NDTV Khabar

क्यों इन दिनों अवैध शराब के कारोबारी बिहार पुलिस की पिटाई कर रहे हैं

कुछ जानकार मानते हैं कि पुलिस वालों की नाक के नीचे ये कारोबार फल फूल रहा है तो इसके बदले पुलिसवालों की अवैध कमाई भी ख़ूब हो रही है. इसके बावजूद छापेमारी, अब कारोबारियों को नागवार गुज़र रही है.

6 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
क्यों इन दिनों अवैध शराब के कारोबारी बिहार पुलिस की पिटाई कर रहे हैं

बिहार पुलिस (फाइल फोटो)

पटना: बिहार में देखा जा रहा है कि अवैध शराब के कारोबारी पुलिसवालों तक की पिटाई कर रहे हैं. लेकिन जिस तरह से अवेध शराब के कारोबार में लगे धंधेबाज़ पुलिसवालों पर हमला कर रहे हैं उससे साफ़ है कि उनके हौसले बुलंद हैं. उनके अंदर अब पुलिस का भी ख़ौफ नहीं है. वहीं कुछ जानकार मानते हैं कि पुलिस वालों की नाक के नीचे ये कारोबार फल फूल रहा है तो इसके बदले पुलिसवालों की अवैध कमाई भी ख़ूब हो रही है. इसके बावजूद छापेमारी, अब कारोबारियों को नागवार गुज़र रही है. बिहार के रोहतास में शराब पीने से चार लोगों की मृत्यु के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की कड़ी फटकार के बाद बिहार पुलिस एवं उत्पाद विभाग बिहार के विभिन्न जिलों में छापेमारी कर अवैध शराब बनाने की फैक्ट्री एवं शराब माफियाओं के ठिकाने को नष्ट करने में लगी है. हालांकि इस मामले में पुलिस को शराब माफियाओं के हमले का शिकार भी होना पड़ता है.

बिहार में शराबबंदी के बाद शराब माफिया इन दिनों नदी के किनारे का दियारा क्षेत्र को अपना महफूज इलाका मानते हैं. ये इलाका चारों ओर से नदियों से घिरा रहता है. इस इलाके में ग्रामीणों की आवाजाही कम होती है, पुलिस को भी काफी मशक्कत करनी पड़ती है. यही कारण है कि शराब माफिया इस इलाके में अवैध शराब के निर्माण में लगे रहते हैं. हालांकि समय समय पर पुलिस एवं उत्पाद विभाग की टीम इन्हें नष्ट करने में लगी रहती है. मगर शराब माफियाओं की वही स्थिति है तू डाल डाल तो मैं पात-पात.  

यह भी पढ़ें : बिहार में ट्रकों में भरकर आ रही शराब पुलिस हो रही मालामाल : लालू यादव

बताया जा रहा है कि पटना के रानीतालाब थाना क्षेत्र में पुलिस को अवैध शराब बनाने की फैक्ट्री के बारे में सूचना मिली थी. जिसके बाद पुलिस एक्शन में आई और टीम तैयार कर सूचना के आधार पर पुलिस टीम ने छापेमारी कर कई अवैध शराब की भट्ठियों को नष्ट किया. इस दौरान 8 लोगों को गिरफ्तार भी किया गया. भारी मात्रा में शराब और शराब बनाने के सामान को जब्त किया गया. लेकिन, जैसे ही पुलिस अपनी कार्रवाई खत्म कर रही थी कि शराब माफियाओं ने उन पर हमला बोल दिया. 

टिप्पणियां
इस हमले में पुलिस टीम के कई सदस्य जख्मी हो गए. घायलों में पालीगंज डीएसपी समेत 3 जवानों को चोटें लगी हैं, जिनका इलाज किया जा रहा है. वहीं इस दौरान पुलिस की ओर से भी कार्रवाई की गई है. बताया जा रहा है कि गिरफ्तार लोगों को छुड़ाने के लिए अचानक लोगों ने लाठी डंडों से पुलिस पर हमला बोल दिया. बावजूद इसके एसएसपी मनु महाराज ने साफ तौर पर हिदायत दी है कि किसी भी इलाके में शराब का धंधा नहीं चलना चाहिए.


इधर घटना के बाद से बिहार पुलिस एवं उत्पाद विभाग की टीम विभिन्न जिलों में शराब कारोबारियों के ठिकानों पर छापेमारी कर उनके अड्डे को ध्वस्त करने में लगी है. रोहतास के दनवार गांव के दियारा क्षेत्र में छापेमारी कर कई ठिकानों को नष्ट किया है, वहीं वैशाली जिले के राघोपुर दियारा क्षेत्र में संयुक्त छापेमारी में करीब दो दर्जन शराब की भट्ठियों को नष्ट किया गया. इस दौरान पुलिस ने सैकड़ो लीटर देशी शराब के साथ कई कारोबारियों को भी गिरफ्तार किया है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement