NDTV Khabar

बिहार : पटना में AIIMS में महिला ने 4 बच्चों को जन्म दिया, प्रीमच्योर हुई डिलीवरी

रीमच्योर होने के कारण इन्हें फिलहाल 'चाइल्ड केयर यूनिट' में रखा गया है. एम्स की महिला चिकित्सक और प्रसूति विभागाध्यक्ष डॉ़ मुक्ता अग्रवाल ने बताया कि अरवल के बम्बुई गांव के रहने वाले मुन्ना साव की पत्नी अनिता देवी पेट में दर्द होने के बाद उनके पास तीन सप्ताह पूर्व इलाज के लिए आई थी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बिहार : पटना में AIIMS में महिला ने 4 बच्चों को जन्म दिया, प्रीमच्योर हुई डिलीवरी

प्रतीकात्मक फोटो

पटना: बिहार की राजधानी पटना स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में एक महिला ने चार बच्चों को जन्म दिया है. नवजात बच्चों में तीन लड़की और एक लड़का है. प्रीमच्योर होने के कारण इन्हें फिलहाल 'चाइल्ड केयर यूनिट' में रखा गया है. एम्स की महिला चिकित्सक और प्रसूति विभागाध्यक्ष डॉ़ मुक्ता अग्रवाल ने बताया कि अरवल के बम्बुई गांव के रहने वाले मुन्ना साव की पत्नी अनिता देवी पेट में दर्द होने के बाद उनके पास तीन सप्ताह पूर्व इलाज के लिए आई थी.

आखिर कैसे जन्म के 6 महीने बाद 9 महीने का हुआ यह बच्चा!

उन्होंने बताया कि मंगलवार को अनिता को साढ़े छह महीने में ही प्रसव पीड़ा शुरू हो गई. मंगलवार को हुए ऑपरेशन के बाद उन्होंने तीन बच्चियों और एक बच्चे को जन्म दिया. डॉ़ अग्रवाल बताती हैं कि एक बच्चे का वजन 850 ग्राम से अधिक है जबकि अन्य का वजन उससे कम है. बच्चे बिल्कुल स्वस्थ हैं लेकिन प्रीमच्योर होने के कारण बच्चों का सही ढंग से विकास नहीं हो पाया है.

उन्होंने बताया कि फिलहाल सभी नवजातों को चाइल्ड केयर यूनिट में रखा गया है. कहा जा रहा है कि एम्स में इस तरह के बच्चों को रखने की व्यवस्था है जिसकी वजह से वे अभी खतरे से बाहर बताए जा रहे हैं..उल्लेखनीय है कि मुन्ना का विवाह चार वर्ष पूर्व अनीता के साथ हुआ था

VIDEO- 30,000 लोगों की जान ले सकता है प्रदूषण : एम्स


टिप्पणियां
दवाइयों के खर्च को लेकर मुन्ना साव के परिजनों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. मुन्ना के परिजनों का कहना है कि कई दवाइयां ऐसी भी हैं, जो काफी महंगी हैं, जिसका खर्च उनके लिए आसान नहीं है. महिला चिकित्सक डॉ़ अग्रवाल भी ऐसे मरीजों के लिए स्वयंसेवी संस्थाओं के आगे आने की अपील की है. बहरहाल, एक साथ चार बच्चों के जन्म की खबर से अस्पताल में लोगों का तांता लगा है.

इनपुट : IANS


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement