सीएम नीतीश को अब विशेष पैकेज की मांग करनी चाहिए : पप्पू यादव

उन्होंने कहा कि न तो बिहार में आई बाढ़ पर चर्चा की गई और न ही सूखे पर, न बेरोजगार युवाओं की समस्याओं की बात की गई और न ही बिहार को दिए गए कथित विशेष पैकेज की.

सीएम नीतीश को अब विशेष पैकेज की मांग करनी चाहिए : पप्पू यादव

पप्पू यादव ने नीतीश कुमार को दी नसीहत

पटना:

जन अधिकार पार्टी के संरक्षक और सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव ने शनिवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सदन में विशेष राज्य की मांग को नकार देने के बाद यह मुद्दा देश में समाप्त हो गया है. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को नसीहत देते हुए पप्पू यादव ने कहा कि अब विशेष राज्य के दर्जे की बात छोड़कर उन्हें बिहार के अलग-अलग हिस्सों मगध, मिथिला और कोसी के लिए विशेष पैकेज की मांग की जानी चाहिए. लोकसभा में शुक्रवार को अविश्वास प्रस्ताव पर मतदान से पहले वॉकआउट करने वाले सांसद पप्पू यादव ने कहा कि सदन में अविश्वास प्रस्ताव के बहस के दौरान ना सत्तापक्ष और न ही विपक्ष ने बिहार के किसी मुद्दों पर चर्चा की.

यह भी पढ़ें: पटना में पप्पू यादव के कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच झड़प, कई घायल

उन्होंने कहा कि न तो बिहार में आई बाढ़ पर चर्चा की गई और न ही सूखे पर, न बेरोजगार युवाओं की समस्याओं की बात की गई और न ही बिहार को दिए गए कथित विशेष पैकेज की. उन्होंने आईएएनएस से कहा कि ऐसे में सदन में रहने का औचित्य ही क्या था? पप्पू यादव ने कहा कि बहस के दौरान बिहार के नेताओं ने भी बिहार की चर्चा नहीं की और मुझे बोलने का समय ही नहीं दिया गया.

यह भी पढ़ें: पप्पू यादव को हथकड़ी पहनाकर अदालत में पेश करने के मामले में 11 पुलिसकर्मी निलंबित

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

शनिवार को दिल्ली से पटना पहुंचे पप्पू यादव ने कहा कि प्रधानमंत्री ने बहस के जवाब में स्पष्ट कर दिया है कि वर्तमान परिस्थिति और नियमों के तहत किसी राज्य को विशेष राज्य का दर्जा नहीं दिया जा सकता. ऐसे में यह मुद्दा ही समाप्त हो गया है. उन्होंने कहा कि अब बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के पास कोई मुद्दा नहीं बचा है.

VIDEO: एसएससी घोटाले पर बोले पप्पू यादव.

लिहाजा अब नीतीश कुमार को बिहार के अलग-अलग क्षेत्रों के लिए विशेष पैकेज की मांग करनी चाहिए. वे हालांकि यह भी कहते हैं कि बिहार को विशेष राज्य का मुद्दा तब से है जब से झारखंड अलग राज्य बना है. (इनपुट भाषा से)