NDTV Khabar

कांग्रेस का 'हाथ', फिलहाल लालू यादव के साथ

चारा घोटाले के एक और मामले में भले ही राजद अध्यक्ष लालू यादव दोषी करार दिए गए हैं और उन्हें साढ़े तीन साल की सजा सुनाई गई है, लेकिन कांग्रेस पार्टी ने लालू यादव का साथ न छोड़ने का मन बना लिया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कांग्रेस का 'हाथ', फिलहाल लालू यादव के साथ

राहुल गांधी के साथ तेजस्वी यादव (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. कांग्रेस और राजद में गठबंधन बरकरार रहेगा.
  2. बिहार कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष कौकब कादरी ने तेजस्वी से मुलाकात की.
  3. राजद के नेता रामचंज पूर्वे ने भी इस बात पर लगाई मुहर.
पटना:

चारा घोटाले के एक और मामले में भले ही राजद अध्यक्ष लालू यादव दोषी करार दिए गए हैं और उन्हें साढ़े तीन साल की सजा सुनाई गई है, लेकिन कांग्रेस पार्टी ने लालू यादव का साथ न छोड़ने का मन बना लिया है. लालू और राजद के साथ एकजुटता दिखाते हुए बिहार कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष कौकब कादरी सोमवार को विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव से मिलने उनके निवास स्थान पर पहुंचे. एक घंटे की मुलाकात के बाद कादरी ने कहा कि कांग्रेस और राजद के गठबंधन पर इन फैसलों का कोई असर नहीं पड़ने वाला है. उनके अनुसार फैसले से कांग्रेस पार्टी काफी आहत है. उन्होंने कहा कि राजद के साथ गठबंधन जारी रहेगा.

यह भी पढ़ें - चारा घोटाला मामले में आखिर लालू यादव दोषी और जगन्नाथ मिश्रा बरी कैसे?
 
वहीं इस बैठक में मौजूद राजद की बिहार इकाई के अध्यक्ष रामचंद्र पूर्वे ने कहा कि आज की मुलाकात के बाद साफ हो गया कि गठबंधन पर कोई असर नहीं पड़ेगा. पूर्वे के अनुसार वह चाहे सोनिया गांधी हों या राहुल गांधी सब ने सांप्रदायिक शक्तियों के खिलाफ लड़ाई में उनकी भूमिका को स्वीकार किया है. हालांकि कांग्रेस के केंद्रीय नेताओं ने भी फैसले के बाद कहा था कि गठबंधन पार्टी से है, ना कि नेता से. लालू यादव के नेतृत्व में कोई चुनाव तो लड़ना नहीं हैं, क्योंकि वह फिलहाल कई वर्षों तक इसके लिए अयोग्य होंगे.
 
यह भी पढ़ें -  ...तो इस वजह से कोर्ट ने लालू यादव की सजा कम करने की दलील नहीं मानी


इससे पूर्व सोमवार को जनता दल यूनाइटेड के दो प्रवक्ताओं- नीरज कुमार और संजय सिंह ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को पत्र लिखकर ये पूछा कि आख़िर वो लालू यादव से मिलने जेल कब जाएंगे. जनता दल यूनाइटेड के इस बयान पर राजद के विधायक मोहम्मद नेमतुल्लाह ने पूछा कि इन प्रवक्ताओं को नीतीश कुमार से भी पूछ लेना चाहिए था कि आखिर वो दिल्ली की तिहाड़ जेल में हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला से मिलने कितनी बार जाते थे.

टिप्पणियां

यह भी पढ़ें - आखिर क्यों झारखंड की रघुवर सरकार लालू यादव को हजारीबाग ओपन जेल नहीं भेजना चाहती?
 
नेमतुल्लाह ने जनता दल यूनाइटेड के नेताओं को एक बार नीतीश कुमार से ये भी पूछने की सलाह दी कि घोटाले में दोषी करार दिए जाने के बाद लालू यादव से उनके घर जाकर और जगदीश शर्मा से मुख्यमंत्री आवास में क्यों मिलते थे.

VIDEO : लालू जी को बेल जरूर मिलेगी, हम हाईकोर्ट जाएंगे : तेजस्वी यादव


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement