Coronavirus: केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्निनी चौबे के अपने शहर में नहीं हो रही कोरोना वायरस की जांच

बिहार में कोरोना का प्रकोप बढ़ता जा रहा है, एक तरफ राज्य सरकार कोरोना जांच के लिए जिला अस्पतालों को तेजी से जांच के आदेश दे रही है दूसरी तरफ संसाधनों की कमी से जूझ रही है.

Coronavirus: केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्निनी चौबे के अपने शहर में नहीं हो रही कोरोना वायरस की जांच

केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी चौबे के अपने शहर भागलपुर में जांच बंद

पटना:

बिहार के भागलपुर मेडिकल कॉलेज में इन दिनों कोरोनावायरस की जांच नहीं हो रही है, ये जांच सीबी नेट मशीन से होनी थी लेकिन 10 तारीख से यह जांच इसलिए ठप्प पड़ी है क्योंकि इस मशीन का कार्टिलेज उपलब्ध नहीं है. बिहार में कोरोना का प्रकोप बढ़ता जा रहा है, एक तरफ राज्य सरकार कोरोना जांच के लिए जिला अस्पतालों को तेजी लाने के आदेश दे रही है दूसरी तरफ संसाधनों की कमी से जूझ रही है. स्वास्थ्य विभाग के सचिव लोकेश कुमार सिंह ने दो दिनों पहले दावा किया था कि कार्टिलेज जिला अस्पतालों तक पहुंच जाएगा. 

Newsbeep

स्वास्थ्य विभाग के सचिव ने बताया कि जिस कार्टिलेज का इस्तेमाल सीबी नेट मशीन में होता है उसकी सप्लाई अमेरिका की एक कंपनी द्वारा होती है. कोरोना के प्रकोप के चलते यह कंपनी ऑर्डर की सप्लाई में देरी कर रही है. भागलपुर में जांच नहीं हो पाने का असर कई जिलों पर भी दिखाई दे रहा है. चूंकि भागलपुर, केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी चौबे की जन्म भूमि है. ऐसे में भागलपुर में संसाधनों की कमी सवालों के घेरे में आ रही है. बता दें कि भागलपुर में जांच रुकने तक क़रीब 350 टेस्ट हुए थे जिसमें 14 लोग पॉज़िटिव पाये गए थे. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बता दें कि  बिहार में शुक्रवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 19 नए मामले आने के साथ प्रदेश में कोविड-19 के मामले बढ़ कर 1,018 हो गये है. एक शीर्ष अधिकारी ने यह जानकारी दी.  स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने बताया कि एक 26 वर्षीय युवती के संक्रमित होने की पुष्टि के साथ ही पटना जिले में संक्रमण का 100वां मामला सामने आया.  गौरतलब है कि बिहार में कोरोना वायरस संक्रमण से अबतक कुल सात मरीजों (पटना में दो तथा मुंगेर, रोहतास, पूर्वी चंपारण, वैशाली एवं सीतामढ़ी जिले में एक—एक मरीज) की मौत हो चुकी है.