NDTV Khabar

मुजफ्फरपुर रेप कांड : JDU को बीजेपी पर 'खेल' का शक, अब सीपी ठाकुर ने मांगा मंजू वर्मा का इस्तीफा

सीपी ठाकुर के इस बयान के भी कई मायने निकाले जा रहे हैं क्योंकि इससे पहले राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को दो पत्र लिखे हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मुजफ्फरपुर रेप कांड : JDU को बीजेपी पर 'खेल' का शक, अब सीपी ठाकुर ने मांगा मंजू वर्मा का इस्तीफा

पूर्व केंद्रीय मंत्री और बिहार में बीजेपी के वरिष्ठ नेता सीपी ठाकुर (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. CP ठाकुर ने मांगा मंजू वर्मा का इस्तीफा
  2. अभी तक सिर्फ विपक्षियों का था दबाव
  3. नीतीश कुमार का भी आ चुका है बयान
पटना: मुजफ्फरपुर बालिका आश्रय गृह बलात्कार कांड   में मंत्री और जेडीयू नेता मंजू वर्मा के पति का नाम सामने आने के बाद जहां विपक्ष नीतीश सरकार को घेरने में लगा था, वहीं अब सहयोगी बीजेपी ने भी दबाव बनाना शुरू कर दिया है. पूर्व केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता सीपी ठाकुर ने कहा है कि सीबीआई जांच तक बिहार की समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा को इस्तीफ़ा दे देना चाहिए. सीपी ठाकुर के बयान से पहले बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने कहा था कि इस मामले में जो भी दोषी होंगे, उन्हें किसी भी कीमत पर नहीं बख्शा जाएगा. रविवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मुजफ्फरपुर कांड पर कहा कि जो गड़बड़ करेगा वह अंदर जाएगा. उसको बचाने वाला भी नहीं बचेगा. वह भी अंदर जाएगा. 

मुजफ्फरपुर कांड पर राज्यपाल की चिट्ठी को जेडीयू मान रही दिल्ली के बीजेपी मुख्यालय का 'खेल'

सीपी ठाकुर के इस बयान के भी कई मायने निकाले जा रहे हैं क्योंकि इससे पहले राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को दो पत्र लिखे हैं. साथ ही केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद और हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश को पत्र लिखा.  जेडीयू के एक नेता के मुताबिक यह हमारे लिए 'शर्मिंदगी' की बात है. दूसरी तरफ, राज्यपाल के पत्र के बाद पार्टी में यह चर्चा शुरू हो गई है कि यह सब सिर्फ 'राज भवन' का किया धरा नहीं है. राज्यपाल सत्यपाल मलिक और नीतीश कुमार एक-दूसरे को दशकों से जानते हैं और जनता दल में करीब एक ही समय रहे हैं.  जदयू नेता कहते हैं कि, 'राजभवन को कलम उठाने पर मजबूर करने की पटकथा कहीं और लिखी गई है. इसके पीछे बिहार बीजेपी नहीं है. नीतीश कुमार कैबिनेट में मंत्री सुशील मोदी जैसे नेताओं का सहयोगात्मक रवैया रहा है'. वह कहते हैं कि 'संभव है कि यह दिल्ली के बीजेपी मुख्यालय में हुआ हो'.    

हम लोग: मुजफ्फरपुर कांड से सकते में है देश​


टिप्पणियां
वहीं इस मामले को लेकर विपक्ष की ओर से तीखे हमलों का सामना कर रहे जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इस्तीफा नहीं देंगे और पार्टी उच्चतम न्यायालय की निगरानी में मामले की जांच को तैयार है. कुमार के इस्तीफे की मांग को खारिज करते हुए वरिष्ठ जदयू नेता केसी त्यागी ने जंतर मंतर पर शनिवार को राजद द्वारा आयोजित प्रदर्शन में शामिल होने पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी सहित विपक्षी नेताओं की निंदा की.

 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement