दिग्विजय सिंह का बड़ा बयान: नीतीश सत्ता के बिना नहीं रह सकते, चुनाव से पहले वह फिर पलटी मार सकते हैं

बिहार के मुख्यमंत्री और जनता दल यूनाइटेड के प्रमुख नीतीश कुमार को लेकर कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने बड़ा दावा किया है.

दिग्विजय सिंह का बड़ा बयान: नीतीश सत्ता के बिना नहीं रह सकते, चुनाव से पहले वह फिर पलटी मार सकते हैं

नीतीश कुमार (फाइल फोटो)

पटना:

बिहार के मुख्यमंत्री और जनता दल यूनाइटेड के प्रमुख नीतीश कुमार को लेकर कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने बड़ा दावा किया है. वरिष्ठ कांग्रेसी नेता दिग्विजय सिंह ने बुधवार को कहा कि उन्हें उम्मीद है बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अगले लोकसभा चुनावों से पहले एक बार फिर भाजपा के नेतृत्व वाले राजग का साथ छोड़ सकते हैं. मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री रह चुके दिग्विजय सिंह ने आरोप लगाया कि राजग के घटक जद(यू) प्रमुख नीतीश कुमार सत्ता के बिना नहीं रह सकते और अगर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता चुनावों से पहले गिरती है तो वह सत्ताधारी गठबंधन से बाहर निकल सकते हैं.

झारखंड के वरिष्ठ मंत्री ने नीतीश कुमार को पत्र लिखकर अपने यहां चल रहे भ्रष्टाचार की शिकायत क्यों की...

पटना में एक निजी दौरे पर पहुंचे दिग्विजय सिंह ने कहा कि नीतीश कुमार को पाला बदलने में सिर्फ 24 घंटे लगते हैं. लोकसभा चुनाव छह महीने दूर हैं. पलटी संभव है.’ यह पूछे जाने पर कि क्या कांग्रेस सहयोगी के तौर पर कुमार का स्वागत करेगी, उन्होंने कहा रहस्यमय रूप से राजनीति संभावनाओं का खेल है. सी पी जोशी के 2013 में बिहार कांग्रेस का प्रभारी बनने से पहले यह जिम्मेदारी सिंह के पास थी. राज्य सभा सदस्य सिंह की कुमार की कांग्रेस के खेमे में आने की संभावना को लेकर की गई टिप्पणी कुमार पर निशाना भी हो सकता है जिन्होंने 2013 में भाजपा के साथ अपने 17 साल पुराने रिश्ते तोड़कर कांग्रेस और अपने धुर विरोधी लालू प्रसाद यादव के साथ एक साल बाद महागठबंधन बनाया था, लेकिन पिछले साल वापस राजग में लौट गए.

चुनाव आते ही जाति सम्मेलन, घंटी बजते ही नीतीश जी को कुशवाहा समाज याद आया: शिवानंद तिवारी

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

दिग्विजय सिंह की यह टिप्पणी ऐसे वक्त भी आई है जब मीडिया में आ रही खबरों से ऐसे संकेत मिल रहे हैं कि बिहार में राजग के साझेदार को 2019 के चुनावों के लिये सीटों की साझेदारी में मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है. भाजपा को निशाने पर लेते हुए सिंह ने अगड़ी जाति के विभिन्न संगठनों द्वारा आरक्षण और अजा/अजजा अधिनियम के खिलाफ प्रदर्शन को मोदी सरकार की विफलताओं को छिपाने की साजिश बताया.  (इनपुट भाषा से)

VIDEO: नीतीश कुमार ने बढ़ाई बेजीपी की मुश्किलें?