NDTV Khabar

पेंशनधारियों को नीतीश का दिवाली गिफ्ट: महंगाई भत्ते में इजाफा और उम्र के साथ बढ़ेगी पेंशन

बिहार में नीतीश सरकार ने पेंशनधारियो के लिए अपना खज़ाना खोल दिया हैं. इसे आप दिवाली गिफ्ट भी कह सकते हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पेंशनधारियों को नीतीश का दिवाली गिफ्ट: महंगाई भत्ते में इजाफा और उम्र के साथ बढ़ेगी पेंशन

नीतीश कुमार ने पेंशनधारियों के मंहगाई भत्ते में इजाफा किया है (फाइल फोटो)

पटना:

बिहार में नीतीश सरकार ने पेंशनधारियो के लिए अपना खज़ाना खोल दिया हैं. इसे आप दिवाली गिफ्ट भी कह सकते हैं. बुधवार को राज्य कैबिनेट ने वेतन और पेंशन पा रहे राज्य सरकार के सरकारी सेवकों और पेंशनभोगियों को महंगाई भाता जहां चार से पांच प्रतिशत कर दिया. वही आपकी जितना ज्यादा उम्र होगी आपके पेंशन में उतनी बढ़ोतरी होगी.        

इसके तहत अब अगर पेंशनभोक्ता की उम्र अगर 80  से 85  के बिच हैं तब मूल पेंशन का 20  प्रतिशत  की बढ़ोतरी होगी. इसके ऊपर अगर आप 85  से 90  के बीच हैं तब 30 प्रतिशत  की बढ़ोतरी होगी उसके ऊपर 95  की उम्र तक 40 प्रतिशत की बढ़ोतरी का प्रस्ताव मंजूर किया गया हैं.  और 50 प्रतिशत  की बढ़ोतरी के लिए आपकी उम्र 95  से 100  के बीच  होनी चाहिए. और अगर आपकी उम्र 100  या उससे अधिक हैं तब आपके मूल पेंशन में 100 प्रतिशत  की बढ़ोतरी हो जाएगी.  इस नए पेंशन नीति  का लाभ लाखो पेंशनधारियो को मिलेगा.  

पढ़ें: नीतीश ने मोदी से मांगा दिवाली गिफ्ट, पीएम ने की योजनाओं की बौछार


कैबिनेट ने हर घर बिजली देने के लिये करीब 1900  करोड़ की भी स्वीकृति दी हैं.  इस साल के अंत तक सभी बसाबट  तक नीतीश कुमार ने घोषण की हैं.  लेकिन अब घर के अंदर मीटर नहीं लगाया जायेगा बल्कि ये घर के बहार डोर बेल लोकेशन पर होगा राज्य सरकार मीटर की राशि किस्तों में उपभोक्ता से वसूल करेगी .  हालाँकि बाढ़ के आने के बाद अभी तक केंद्र ने कोई अनुदान नहीं दिया हैं लेकिन राज्य सरकार के कृषि इनपुट अनुदान के लिए करीब 894  करोड़ की राशि स्वीकृत कर दी हैं. राज्य सरकार को उम्मीद हैं कि केंद्रीय टीम के दौरे के बाद केंद्र उनकी करीब सात हज़ार करोड़ की क्षति की मांग पर सकारात्मक रुख अपनाएगी.  

टिप्पणियां

पढ़ें: राजस्थान के सरकारी कर्मचारियों को दिवाली का तोहफा, 7वें वेतन आयोग की सिफारिशें लागू

इसके अलावा राज्य के सभी जिलों में एक उच्य  माध्यमिक विद्यालय में कृषि विषय की पढाई की जाएगी.  और हर विद्यालय में इसके लिये दो शिक्षक  नियुक्त किये जायेंगे राज्य में शहरो में आखिरकार स्ट्रीट लाइट के लिये एल ई  डी लगाए जायेंगे.  जिससे राज्य को उम्मीद हैं कि हर वर्ष करीब 70  करोड़ की बचत होगी.     



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement