NDTV Khabar

प्रवर्तन निदेशालय के समन पर अब तक इस कारण पेश नहीं हुईं राबड़ी देवी!

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के ख़िलाफ़ एक और समन भेजा है. राबड़ी के अलावा उनके छोटे बेटे और विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव को भी पूछताछ के लिए समन भेजा गया है.

80 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
प्रवर्तन निदेशालय के समन पर अब तक इस कारण पेश नहीं हुईं राबड़ी देवी!

राबड़ी देवी को 27 अक्टूबर को दिल्ली स्थित ईडी कार्यालय में पूछताछ के लिए बुलाया गया है (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. राबड़ी देवी को ईडी की ओर से ताजा समन भेजा गया
  2. 27 अक्‍टूबर को दिल्‍ली के ईडी कार्यालय में होना है पेश
  3. चार बार समन जारी हो चुके, लेकिन वे जवाब देने नहीं पहुंचीं
पटना: प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के ख़िलाफ़ एक और समन भेजा है. राबड़ी के अलावा उनके छोटे बेटे और विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव को भी पूछताछ के लिए समन भेजा गया है. इसके अनुसार जहां राबड़ी देवी को 27 अक्टूबर  को दिल्ली स्थित ईडी कार्यालय में मौजूद रहना है, वही तेजस्वी यादव को पूछताछ के लिए 24 अक्‍टूबर की तारीख दी गई है. ईडी इससे पहले भी तेजस्वी यादव के साथ पूछताछ कर चुका है जबकि राबड़ी देवी चार बार समन जारी होने के बाद भी अब तक जवाब देने नहीं पहुंची हैं.

यह भी पढ़ें : बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी इस साल करेंगी छठ व्रत

राबड़ी देवी के वकीलों के अनुसार, पूर्व मुख्‍यमंत्री अभी तक पूछताछ के लिए इसलिए नहीं गईं क्‍योंकि वे जहां पटना में ही आयकर विभाग की पूछताछ चाहती हैं, वही जांच एजेंसी दिल्ली में अपने दफ़्तर में ही बुलाने पर अड़ी  है. गौरतलब है कि प्रवर्तन निदेशालय ने रेलवे के होटल के बदले पटना में तीन एकड़  ज़मीन के मामले में मनी लांड्रिंग का मामला दर्ज किया है. इसका आधार सीबीआई द्वारा दर्ज प्राथमिकी में है. सीबीआई इस मामले में लालू यादव और तेजस्वी यादव से, दोनों  से पूछताछ कर चुकी है. आयकर विभाग ने अपनी जांच और पूछताछ के बाद इस ज़मीन को ज़ब्त कर लिया था.

वीडियो: आईआरसीटीसी घोटाला मामले में लालू पहुंचे सीबीआई मुख्‍यालय
सभी जांच एजेंसियों का इस मामले में अभी तक का यही निष्कर्ष रहा हैं कि होटल के बदले ज़मीन ली गई और ज़मीन के बदले जो पैसे का भुगतान शुरू में डिलाइट मार्केटिंग नामक कंपनी द्वारा किया गया, उसका स्रोत भी विवादास्पद है. राबड़ी देवी और तेजस्वी यादव द्वारा डिलाइट मार्केटिंग के शेयर खरीदने  के लिए जो राशि दी गई, उस बारे में दिया गया जवाब भी संतोषजनक नहीं रहा है. माना जा रहा है कि सीबीआई इस मामले में लालू, तेजस्वी के खिलाफ चार्जशीट दायर करेगी, वही आयकर विभाग भी टैक्स और पेनल्टी वसूलने की प्रक्रिया शुरू कर सकती है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement