मोदी सरकार के मंत्री ने बिहार के इस शहर का नाम बदलने की मांग की, सहयोगी JDU को ऐतराज - कही यह बात

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने इलाहाबाद का नाम प्रयागराज किए जाने को सही ठहराया. इसके साथ-साथ उन्होंने इसी तर्ज पर बिहार के कुछ शहरों का भी नाम बदले जाने की मांग सोमवार को उठाई.

मोदी सरकार के मंत्री ने बिहार के इस शहर का नाम बदलने की मांग की, सहयोगी JDU को ऐतराज - कही यह बात

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • गिरिराज सिंह ने बिहार के बख्तियारपुर का नाम बदलने की मांग की
  • मान्यता है कि बख्तियार खिलजी के नाम पर इस जगह का नाम रखा गया था
  • बख्तियारपुर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का जन्मस्थान भी है
पटना:

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा इलाहाबाद का नाम प्रयागराज किए जाने को सही ठहराया. इसके साथ-साथ उन्होंने इसी तर्ज पर बिहार के कुछ शहरों का भी नाम बदले जाने की मांग सोमवार को उठाई. सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा, 'योगी जी ने यह कदम (इलाहाबाद का नामकरण प्रयागराज करने का) अच्छा उठाया है. वह धन्यवाद के पात्र हैं.' उन्होंने कहा, 'मैं आपसे पूछता हूं कि आपके घर पर कोई कब्जा कर ले और जब आप सामर्थ्यवान होंगे तो क्या अपने घर का नाम उसी का रहने देंगे.'

यह भी पढ़ें : मुगलसराय स्टेशन के बाद अब इलाहाबाद शहर का नाम बदलने की तैयारी में सरकार, यह हो सकता है नया नाम...

गिरिराज सिंह ने कहा, 'मैं तो मांग करूंगा कि पूरे देश में, बिहार में भी जो नाम मुगलों के नाम से जुड़ा है, उन नामों को हटाया जाना चाहिए. जिसका एक उदाहरण बख्तिायरपुर है.' बिहार की राजधानी पटना के बाहरी इलाके में स्थित बख्तियारपुर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का जन्मस्थान है. माना जाता है कि दिल्ली के सुल्तान कुतुबुद्दीन एबक के निर्देश पर
बख्तियार खिलजी के नाम पर इस जगह का नाम बख्तियारपुर रखा गया था, जिसने बिहार पर आक्रमण किया था.

यह भी पढ़ें : तो क्या अब 'शिमला' भी हो जाएगा 'श्यामला'? नाम बदलने पर सरकार कर रही विचार

गिरिराज सिंह ने कहा, 'भारत में कोई भी मुगलों का वंशज नहीं है. सभी राम के वंशज और भारतीय हैं.' बिहार में भाजपा के साथ सत्ता में शामिल जदयू के प्रवक्ता संजय सिंह ने कहा कि यह देश हिंदू, मुसलमान, सिख और ईसाई सभी का है. कुछ लोग बयानबाजी कर देश और समाज को बांटना चाहते हैं. ऐसे लोगों से देश सजग है. उन्होंने गिरिराज सिंह को बड़ा भाई बताते हुए उन्हें बख्तिायरपुर का इतिहास जानने का सुझाव दिया और कहा कि उसके बाद नाम बदलने की बात करें. संजय ने कहा कि जहां तक गिरिराज सिंह का सवाल है, वह केंद्र में मंत्री हैं. उन्हें देश में मंहगाई, किसानों की समस्या और बेरोजगारी की बात करनी चाहिए.

...तो क्या अब फैजाबाद का नाम भी बदल जाएगा? विहिप ने योगी सरकार से की यह मांग

उधर, राजद प्रवक्ता भाई वीरेंद्र ने गिरिराज के बयान पर प्रतिक्रिया में कहा कि यह मुगलों की धरती नहीं बल्कि राम-रहीम की धरती है तथा सभी उन्हीं के वंशज हैं. उन्होंने केंद्रीय मंत्री पर आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर इस तरह का विवादित बयान देने का आरोप लगाते हुए कहा कि ऐसे लोग देश को बांटना चाहते हैं. राजग छोड़कर राजद के साथ महागठबंधन में शामिल हुए हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा सेक्युलर के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने आरोप लगाया कि गिरिराज सिंह हिंदू समाज की भावनाएं भड़काकर 2019 का लोकसभा चुनाव जीतने की फिराक में लगे हुए हैं. 

VIDEO: सरकार बदलते ही क्यों बदलते हैं नाम?

(इनपुट : भाषा)

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com