NDTV Khabar

नोटबंदी का समर्थन किया, लेकिन बैंकों ने इसे विफल किया : नीतीश कुमार 

बिहार के मुख्य मंत्री नीतीश कुमार शनिवार को बैंकिंग समुदाय से कई मुद्दों पर निराश दिखे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
नोटबंदी का समर्थन किया, लेकिन बैंकों ने इसे विफल किया : नीतीश कुमार 

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार.

खास बातें

  1. नीतीश कुमार बैंकिंग समुदाय से दिखे निराश
  2. कहा नोटबंदी को सफल करने में बैंकरों की बड़ी भूमिका थी
  3. लेकिन सभी ने अपना नोट बैंकों में पहुंचा दिया
पटना :
टिप्पणियां
बिहार के मुख्य मंत्री नीतीश कुमार शनिवार को बैंकिंग समुदाय से कई मुद्दों पर निराश दिखे.उन्होंने बैंकरो के साथ एक बैठक में माना कि नोटबंदी का उन्होंने पुरज़ोर समर्थन किया. इसे सफल करने में बैंकरो की भूमिका सबसे बड़ी थी, लेकिन सब जानते हैं कि लोगों ने अपना नोट बैंकों में पहुंचा दिया. समारोह में नीतीश ने वर्तमान बैंकिंग व्यवस्था पर ब्यंग्य करते हुए कहा कि जहां एक लाख से पांच लाख के क़र्ज़ मांगने वालों के लिए पूरी व्यवस्था काफी जटिल होती हैं, वही हज़ारों करोड़ रुपये का कर्ज लेकर लोग यूं ही देश से भाग जाते हैं. नीतीश का निश्चित रूप नीरव मोदी के परिपेक्ष्य में ये बात कह रहे थे.कर्ज के संबंध में नीतीश कुमार ने बिहार के लोगों के बारे में बैंकों को यह कहकर आश्वत किया कि यहां लोग कर्ज को सही नहीं मानते हैं. जो पैसा लेता है वो पचाना नहीं, बल्कि लौटाना चाहता है.नीतीश ने सभी बैंकों से बिहार में क्रेडिट डिपोजिट अनुपात को पचास प्रतिशत से अधिक करने की अपील की.गौरतलब है कि नीतीश ने नौटबंदी के मुद्दे पर अपनी पार्टी के बड़े तबके के विरोध के बावजूद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को समर्थन जारी रखा था. ये भी माना जाता हैं कि दोनों के बीच पिछले साल साथ आने की जड़ में भी इस मुद्दे की अहम भूमिका थी. 


यह भी पढ़ें : नीतीश कुमार ने रेप और मूर्ति चोरी के आरोपी को उम्मीदवार बनाया!


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement