NDTV Khabar

लालू यादव ने कहा, अगर सत्ता में आए तो बिहार में चौथी पास लड़कों की सिपाही में होगी भर्ती

बिहार में जब से सत्ता गई तब से लालू यादव हर सभा में बोलते थे कि राज्य में सिपाही बनने के लिए उनकी सरकार आयी तो सातवीं पास होना काफ़ी है.

24 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
लालू यादव ने कहा, अगर सत्ता में आए तो बिहार में चौथी पास लड़कों की सिपाही में होगी भर्ती

राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव (फाइल फोटो)

पटना: राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष लालू यादव सत्ता से बाहर हैं लेकिन कह रहे हैं कि सत्ता मिली तो चौथी पास लड़कों को सिपाही में भर्ती किया जाएगा. फ़िलहाल नीतीश कुमार जब से राज्य में मुख्यमंत्री हैं तब से बिहार में सिपाही बनने के लिए आपको इंटर पास होना अनिवार्य है. लालू ने ये घोषणा बुधवार को हाजीपुर में की. इससे पहले बिहार में जब से सत्ता गई तब से लालू यादव हर सभा में बोलते थे कि राज्य में सिपाही बनने के लिए उनकी सरकार आयी तो सातवीं पास होना काफ़ी है. हालांकि राजद में कोई नेता ये नहीं बता पा रहा कि लालू सातवीं पास से चौथी पास के अपने निर्णय पर कैसे पहुंचे. फ़िलहाल बिहार में सिपाही में भर्ती के लिए भी उमीदवारो को शारीरिक और लिखित दोनों परीक्षा देनी होती है. होम गार्ड के जवानों को मात्र दसवीं पास होना ज़रूरी है.

लेकिन राज्य में जहां एमए पास लोग चपरासी से लेकर राशन की दुकान के लिए अर्ज़ी देते हैं, वहां लालू की घोषणा से उनके पार्टी के लोग बहुत उत्साहित नहीं हैं. कई नेताओं का कहना है कि लालू यादव कहीं ना कहीं इस भुलावे में हैं कि राज्य में लोग उनकी इस घोषणा से ख़ुश होंगे और चुनाव में ऐसी घोषणा से लाभ मिलेगा.

यह भी पढ़ें : नोटबंदी नहीं, अहंकार संतुष्टि थी - लालू प्रसाद यादव

वहीं लालू के विरोधी जैसे जनता दल यूनाइटेड के प्रवक्ता संजय सिंह का कहना है कि लालू की ऐसी घोषणा को इस परिप्रेक्ष्य में देखना चाहिए कि उनके दोनों बेटे दसवीं पास भी नहीं हैं, इसलिए लालू को लगता है कि जिस राज्य में सिपाही इंटर पास हो वहां की जनता उनके सातवीं पास बेटे तेजस्वी यादव को शायद कभी मुख्यमंत्री के रूप में स्वीकार ना करें.

यह भी पढ़ें : एक ज्योतिषी को पार्टी प्रवक्ता बनाकर विवादों में लालू प्रसाद यादव

कई पुलिस अधिकारियों में इस मुद्दे पर एक मत नहीं है. कई वर्तमान पुलिस अधिकारी कहते हैं कि अपराध का नेचर बदलता जा रहा है. ऐसे में आप पढ़े लिखे ना हों तब कोई काम के नहीं. वहीं कुछ पुलिस अधिकारी कहते हैं कि सिपाही की नियुक्ति की असल योग्यता शारीरिक क़द काठी होनी चाहिए. फ़िलहाल नीतीश सरकार लालू यादव की इस घोषणा को गम्भीरता से नहीं लेती. उनका कहना है कि सत्ता से बाहर रहने पर लालू ऐसे बयान देते रहते हैं. उन्हें भी मालूम है कि ऐसी घोषणा से बिहार में सत्ता में अपने बलबूते वापसी नहीं कर सकते.

VIDEO: नीतीश कुमार की मर्ज़ी से मुख्यमंत्री नहीं बनेगा तेजस्वी: लालू


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement