NDTV Khabar

राजद सुप्रीमो लालू यादव की बेटी-दामाद से आयकर विभाग कर सकता है पूछताछ

आयकर विभाग का कहना है कि पिछले सोमवार को जिन-जिन लोगो के दफ्तर-घर पर छापेमारी की गई वो सभी लोग लालू यादव से जुड़े रहे हैं. इसमें उनके पार्टी के ही सांसद प्रेम गुप्ता मीसा भारती शामिल हैं.

406 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
राजद सुप्रीमो लालू यादव की बेटी-दामाद से आयकर विभाग कर सकता है पूछताछ

हालांकि इस पूरे विवाद के बाद फ़िलहाल मीसा भारती ने अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है.

पटना: पिछले हफ्ते आयकर विभाग ने राजद सुप्रीमो लालू यादव और उनसे जुड़े लोगों के ठिकानों पर छापेमारी की थी. लालू यादव इसके बाद मीडिया से पूछ रहे हैं कि वो उन्हें ये बताये कि कौन से 22 ठिकानों पर छापेमारी की गई. आयकर विभाग का कहना है कि पिछले सोमवार को जिन-जिन लोगो के दफ्तर-घर पर छापेमारी की गई वो सभी लोग लालू यादव से जुड़े रहे हैं. इसमें उनके पार्टी के ही सांसद प्रेम गुप्ता मीसा भारती शामिल हैं. इसके अलावा विजय कोचर और अजय कोचर भी हैं जिन्हें लालू यादव के रेल मंत्री के कार्यकाल में रांची और पूरी के दो होटल चलने के लिए लाइसेंस मिले. आरोप है कि उन्होंने बदले में पहले प्रेम गुप्ता और बाद में लालू यादव ने ये जमीं अपने बेटो के नाम से रजिस्ट्री करा ली. फ़िलहाल वहां माल का निर्माण कार्य चल रहा हैं जिसे केंद्रीय पर्यावरण मंत्रालय ने रोक लगा दी है.  

इसके अलावा छापेमारी विवेक नागपाल के दफ्तर पर भी हुई जिनका संबंध मीसा भारती और उनके पति शैलेश कुमार से रहा है. पिछले हफ्ते भारतीय जनता पार्टी के नेता सुशील मोदी ने ये आरोप लगाया था कि विवेक नागपाल ने अपनी कंपनी khk होल्डिंग्स की कीमती जमीन लालू यादव के परिवार को सौंप दी. कंपनी का टेकओवर करने के साथ मीसा भारती और उनके पति शैलेश कुमार के पास दिल्ली के सैनिक फार्म में जमीं और मकान दोनों आ गया.

हालांकि राज्यसभा सांसद बनने के बाद मीसा की जगह अब शैलेश के भाई नीलेश इस कंपनी में निदेशक हैं. निदेशक बनने के लिए मोदी के आरोप के अनुसार मीसा और शैलेश ने उस सरकारी बंगला का पता दिया जो लालू यादव को संसद होने के नाते मिला था जबकि सरकारी नियम के अनुसार आप किसी सरकारी बंगला का इस्तेमाल व्यावसायिक काम के लिए नहीं कर सकते.

लेकिन जानकर मानते हैं कि सबसे हैरत करने वाली बात यह है कि लालू यादव के परिवार से विवादों में रहने वाले विवेक नागपाल के संबंध. विवेक नागपाल को कैग ने दिल्ली में ट्रांसपोर्ट विभाग द्वारा स्मार्ट कार्ड बनाने में वित्तीय अनियमितता का आरोपी माना था. इसके अलावा ललित मोदी ने भी उन पर हवाला और क्रिकेट बोर्ड में धांधली का आरोप लगाया था. नागपाल की कंपनी के खिलाफ सेबी और प्रवर्तन निदेशालय भी कई मामलो में जांच कर चुके है. ऐसे व्यक्ति से लालू यादव और उनकी बेटी-दामाद के व्यावसायिक संबंध निश्चित रूप से चौंकाने वाले हैं.

हालांकि इस पूरे विवाद के बाद फ़िलहाल मीसा भारती ने अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है. पार्टी के प्रवक्ता मनोज झा का कहना है कि इन आरोपों में कोई तथ्य नहीं हैं और जांच होने दीजिये सब दूध का दूध पानी का पानी हो जायेगा लेकिन इसके लिए जांच एजेंसियो को बिना किसी दबाब के काम करना होगा.

इससे पहले भी सुशील मोदी ने मीसा भारती पर अपनी एक और कंपनी मिशेल पैकर्स के माध्यम से एक फार्म हाउस खरीदने का आरोप लगाया था. हालांकि इस कंपनी को बाद में सुरेंद्र जैन और वीरेंदर जैन के दो लोगो को बेचा गया जो आजकल मनी लॉन्डरिंग के मामले में जेल में हैं. जानकारों का मानना हैं की इसके अलावा लालू यादव के सबसे बड़े दामाद शैलेश एक और कंपनी रॉयल तुलिप होटल्स रिसॉर्ट्स में भी निदेशक हैं. इस कंपनी में एक और निदेशक हैं रंजन कुमार जो ज़ूम रिसॉर्ट्स और ज़ूम डेवेलपर्स में भी निदेशक हैं.

टिप्पणियां
रेलवे अधिकारियों के अनुसार जब लालू यादव रेल मंत्री थे तब ज़ूम नाम की कंपनी को रेलवे के कुछ सम्पति लीज पर देने की सहमति बनी लेकिन बाद में इस पर अमल नहीं हो पाया क्योंकि रेलवे के अधिकारियो ने कई आपत्तियां जाहिर की थी लेकिन अगर जांच एजेंसियो के अनुसार ये मामला सच है तब ये रेलवे के होटल के बदले माल की जमीन जैसा मामला जान पड़ता है.

हालांकि लालू यादव के करीबियों का कहना है कि हर कंपनी में सब कुछ कानूनसम्मत किया गया है. कंपनी के रिटर्न भी समय पर भरे गए हैं और आयकर विभाग एक्ट में साफ़-साफ़ प्रबधन है कि 6 वर्ष से अधिक पुराने मामले को फिर से खोला नहीं जा सकता. हालांकि जांच एजेंसी से जुड़े अधिकारियों का कहना हैं कि आखिर सवाल है कि करोड़ों की संपत्तिकौड़ियों के भाव कैसे मिल गई.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement