NDTV Khabar

क्या नीतीश से नाराज जेडीयू नेता शरद यादव बनाने जा रहे हैं नई पार्टी?

शरद पुराने साथियों के संपर्क में हैं और राजनीतिक हालात पर विचार कर रहे हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
क्या नीतीश से नाराज जेडीयू नेता शरद यादव बनाने जा रहे हैं नई पार्टी?

शरद यादव और नीतीश कुमार के बीच सुलह होने के आसार नजर नहीं आ रहे हैं....

खास बातें

  1. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और शरद यादव के बीच 'मतभेद' बढ़े
  2. शरद यादव के करीबी सूत्रों ने दिए नई पार्टी बनाने के संकेत
  3. लालू लगातार शरद यादव को अपने खेमे में लाने के लिए प्रयासरत
पटना: हार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और जदयू के वरिष्ठ नेता शरद यादव के बीच 'मतभेद' की अटकलों के बीच समाजवादी नेता और पूर्व विधान पार्षद विजय वर्मा ने शरद के महागठबंधन में बने रहने के लिए एक नई पार्टी बनाने के संकेत दिए हैं. शरद यादव के विश्वस्त माने जाने वाले और दो बार बिहार विधान परिषद सदस्य रहे विजय वर्मा ने शरद के महागठबंधन में बने रहने के लिए एक नई पार्टी बनाने के संकेत दिए हैं, पर जदयू के प्रधान महासचिव के सी त्यागी ने इसे अफवाह बताया है. जदयू के प्रदेश प्रवक्ता अजय आलोक ने शरद की 'नाराजगी' को खारिज कर दिया.

वर्मा ने मधेपुरा से फोन पर कहा कि शरद पुराने साथियों के संपर्क में हैं और राजनीतिक हालात पर विचार कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि नए दल का गठन एक विकल्प है और उस पर संजीदगी से विचार किया जा रहा है. वर्मा ने दावा किया कि शरद ने जोर देकर कहा है कि वे धर्मनिरपेक्ष शक्ति वाले महागठबंधन में बने रहेंगे और इसी को जेहन रखते हुए वे कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद और माकपा नेता सीताराम येचुरी से मिले थे. उन्होंने कहा कि शरद ने राजग सरकार में मंत्री के तौर पर शामिल होने से इनकार किया है.

पढ़ें : 'तुम मंडल छोड़ कमंडल थाम लिए' : नीतीश पर हमला और शरद पर डोरे डालते दिखे लालू यादव  

होटल के बदले भूखंड मामले में सीबीआई की प्राथमिकी पर राजद प्रमुख लालू प्रसाद के पुत्र और पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के जनता के बीच स्पष्टीकरण नहीं देने पर नीतीश के महागठबंधन से अलग होकर राजग में शामिल भाजपा और उसके अन्य सहयोगी दलों के साथ प्रदेश में नई सरकार बनाने लेने पर चुप्पी साधे रहने के बाद जदयू के राज्यसभा सदस्य शरद ने इसको लेकर सार्वजनिक तौर पर नाराजगी जताई है. गत 31 जुलाई को संसद के बाहर शरद ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा था कि जनादेश इसके लिए नहीं था और महागठबंधन के बिखरने को अप्रिय और दुर्भाग्यपूर्ण बताया था.

पढ़ें : शरद यादव ने जताई नाराजगी तो नीतीश कुमार ने दिया ये जवाब

VIDEO : बिहार में जो भी हुआ है वो अच्छा नहीं है: शरद यादव

शरद के करीबी माने जाने केसी त्यागी ने फोन पर बातचीत करते हुए इसे अफवाह बताते हुए कहा कि उन्हें आश्चर्य (भाजपा के साथ हाथ मिलाने पर) व्यक्त किया है पर कभी नहीं कहा कि मेरा विरोध है. त्यागी ने कहा कि उन्होंने शरद को पिछले 40 सालों से बहुत करीब से देखा है और जानते हैं कि भ्रष्टाचार को लेकर वे लालू प्रसाद से अलग हुए थे, ऐसे में वे कैसे लालू के साथ जा सकते हैं. जदयू के प्रदेश प्रवक्ता अजय आलोक ने शरद के पार्टी से नाराज होने की मीडिया रिपोर्ट को खारिज करते हुए कहा कि सावन का महीना है, इसके बाद भादो और शरद आता है... कोई नाराजगी नहीं.

टिप्पणियां
 

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement