NDTV Khabar

हम मिट्टी में मिल जाएंगे लेकिन मोदी सरकार को हटा के दम लेंगे - लालू यादव

लालू प्रसाद यादव ने कहा कि सीबीआई की कार्रवाई बदले की भावना से कराई जा रही है.

15300 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
हम मिट्टी में मिल जाएंगे लेकिन मोदी सरकार को हटा के दम लेंगे - लालू यादव

राजद अध्यक्ष लालू यादव ने कहा कि हमें दबाने कितनी ही कोशिश की जाए हम दबने वाले नहीं हैं....

खास बातें

  1. कहा - आरएसएस के खिलाफ बोलने की सजा दी जा रही है
  2. हम किसी से डरने वाले नहीं, पटना में जोरशोर से रैली आयोजित करेंगे
  3. भाजपा के खिलाफ विपक्षी दलों को एकजुट करने के लिए काम रहेंगे
रांची : बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री एवं चारा घोटाले के मुख्य आरोपी लालू प्रसाद यादव ने शुक्रवार को सीबीआई छापेमारी पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि आरोप लगाया कि उनके और उनके परिवार के खिलाफ सीबीआई की कार्रवाई बदले की भावना से कराई जा रही है. राजद सुप्रीमो ने अपने अंदाज में कहा, "हम मिट्टी में मिल जाएंगे लेकिन बीजेपी एवं मोदी सरकार को हटा के दम लेंगे."

यहां चारा घोटाले के डोरंडा कोषागार समेत दो कोषागारों से फर्जी ढंग से करोड़ों रुपये निकालने के दो मामलों में विशेष सीबीआई अदालतों में पेशी के बाद मीडिया से बातचीत करते हुए राजद अध्यक्ष लालू यादव ने आरोप लगाया कि उन्हें भाजपा और आरएसएस के खिलाफ बोलने की सजा दी जा रही है लेकिन वह किसी से डरने वाले नहीं हैं और विपक्ष को भाजपा के खिलाफ एकजुट करने के लिए काम करते रहेंगे और इसके लिए 27 अगस्त को पटना में आयोजित रैली को और जोरशोर से आयोजित करेंगे.

लालू ने कहा, "हमें दबाने और परेशान करने की कितनी ही कोशिश की जाए हम दबने वाले नहीं हैं. हम मिट्टी में मिल जाएंगे लेकिन भाजपा और मोदी सरकार को हटा के ही दम लेंगे." उन्होंने कहा कि उन्होंने कुछ गलत नहीं किया है. तिथिवार अपनी बातें रखते हुए लालू ने कहा, "1999 में आईआरसीटीसी का गठन किया गया. 2002 में वह सक्रिय हुई और उसे 2003 में रेलवे के दिल्ली, हावड़ा, रांची और पुरी के होटल दिये गये. उस समय केन्द्र में राजग की सरकार थी, तो गलती मैंने कैसे की?" उन्होंने आगे कहा कि उन्होंने तो रेलवे मंत्री का पद 31 मई, 2004 को संभाला और जिस मामले में सीबीआई ने आज छापे डाले हैं और जो मामले उनके और उनके परिवार के खिलाफ दर्ज किए गए हैं वह सब तो उसके पहले ही हो चुका था.

उन्होंने भाजपा पर राजनीति साजिश के तहत इस तरह की कार्रवाई करवाने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि भाजपा और आरएसएस के इशारों पर यह सब किया जा रहा है. उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि उनकी अनुपस्थिति में उनके परिवार को तंग किया जा रहा है और वह भी पटना लौट कर देखते हैं कि आखिर छापेमारी में सीबीआई को उनके घर और परिवार से क्या हासिल हुआ.

उधर, केंद्रीय मंत्री एम. वेंकैया नायडू ने कहा कि लालू प्रसाद और उनके परिवार के खिलाफ सीबीआई की छापेमारी में सरकार और भाजपा की कोई भूमिका नहीं है. नायडू ने सवाल किया, "राजनीतिक बदले की भावना क्या है? इसमें भाजपा कहां है? मैं यह समझ नहीं पा रहा हूं. क्या आप यह कहना चाह रहे हैं कि किसी के खिलाफ कोई आरोप हो तो उसकी जांच नहीं होनी चाहिये?" 


सीबीआई ने आज देश भर में रांची समेत पांच शहरों के 12 ठिकानों पर लालू के परिजनों और इस मामले से जुड़े लोगों के यहां छापेमारी की. सीबीआई ने दिल्ली में बताया कि उसने लालू, तेजस्वी यादव, राबड़ी देवी और अनेक अन्य लोगों पर भारतीय दंड संहिता की धारा 420, 120बी एवं भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धारा 13 के तहत प्राथमिकी दर्ज कर ली है और जांच के सिलसिले में आज छापेमारी की गई है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement