NDTV Khabar

कैबिनेट विस्तार में जेडीयू का नाम बेवजह लिया गया : नीतीश कुमार

हमें और काम करना है, केवल बयान नहीं देना है. उन्होंने कहा कि हमें बिहार के लिए काम करना है और वहीं पर ध्यान रखना है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कैबिनेट विस्तार में जेडीयू का नाम बेवजह लिया गया : नीतीश कुमार

बिहार के सीएम नीतीश कुमार.

खास बातें

  1. केंद्र में हुआ है मंत्रिमंडल विस्तार
  2. बिहार से जेडीयू के दो लोगों के शामिल होने की थी बात
  3. विस्तार में नहीं मिली जेडीयू को जगह.
पटना: नीतीश कुमार ने कैबिनेट विस्तार पर सफाई दी है. उन्होंने कहा कि मेरी पार्टी के संबंध में जो भी बात होगी मैं खुद सबको बता दूंगा. अपने आप ही मीडिया सब चला रहा है. कैबिनेट विस्तार में जेडीयू का नाम बेवजह लिया गया. नीतीश कुमार ने कहा कि पहले क्या बात हो रही थी, यह सबको पता है. उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि वो (लालू) मेरा इलाज (राजनीतिक रूप से) करने की बात कह रहे थे. नीतीश कुमार ने कहा कि किसी के बयान पर हम बयान नहीं देना चाहते है. हमें और काम करना है, केवल बयान नहीं देना है. उन्होंने कहा कि हमें बिहार के लिए काम करना है और वहीं पर ध्यान रखना है.

बता दें कि रविवार को राष्ट्रपति भवन में नरेंद्र मोदी मंत्रिमंडल का विस्तार किया गया. इस विस्तार में जेडीयू के दो मंत्रियों के शपथ दिलाने की खबरें मीडिया में आई थीं. लेकिन जब वास्तविक्ता में कैबिनेट विस्तार हुआ तब जेडीयू के किसी नेता  को नहीं देखा गया. वहीं राजद सूप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने नीतीश कुमार पर इस मामले में कई हमले किए थे.

यह भी पढ़ें : अभी खत्म नहीं हुई है मोदी मंत्रिमंडल में JDU की एंट्री की उम्मीद

जेडीयू ने इस फेरबदल को बीजेपी का आतंरिक मामला बताकर मामले से पल्ला झाड़ने की कोशिश की. खुद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सफाई दी कि इस मंत्रिमंडल विस्तार पर न उनसे कोई चर्चा हुई है और न ही जनता दल यूनाइटेड के भागीदारी पर उनसे पूछा गया लेकिन उनकी इस सफाई को उनके विरोधी फ़िलहाल मानने के लिए तैयार नहीं.
VIDEO: नीतीश पर लालू का हमला

सबसे पहले राजद अध्यक्ष लालू यादव ने पूछा, 'झुंड से भटकने के बाद बंदर को कोई नहीं पूछता". उसके बाद अपनी प्रतिक्रिया में लालू यादव ने कहा कि पल्टूराम को कार्ड तक नहीं आया. लालू ने भविष्यवाणी भी कि नीतीश कुमार की असल दुर्गति अभी बाकी है. वही उनकी पार्टी के उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने तंज कसते हुए कि नीतीश कुमार को 'माया मिली न राम'. तिवारी ने अपने बयान में दावा किया कि प्रधानमंत्री मोदी ने जिस दिन बिहार के बाढ़ग्रस्त इलाकों का दौरा किया था, उसी दिन दोपहर के भोज में वे जेडीयू के मंत्रिमंडल में शामिल किए जाने के आग्रह को ठुकरा चुके थे. 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement