NDTV Khabar

जानें जेडीयू ने शरद यादव से क्यों कहा, कृपया मुकुल रॉय का ही अनुसरण कर लीजिए

जेडीयू महासचिव संजय झा ने शरद यादव से अपील की कि वह कम से कम अपनी सदस्यता जाने का इंतजार न करें, इससे सबको तकलीफ होगी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
जानें जेडीयू ने शरद यादव से क्यों कहा, कृपया मुकुल रॉय का ही अनुसरण कर लीजिए

शरद यादव की फाइल तस्वीर

खास बातें

  1. जेडीयू ने कहा, राज्यसभा से इस्तीफा दे दें शरद यादव
  2. 'शरद यादव को अच्छी तरह मालूम है कि उनकी सदस्यता रद्द होनी तय है'
  3. 'सदस्यता रद्द होने का इंतजार न करें, इससे सबको तकलीफ होगी'
पटना: तमाम अटकलों के बावजूद जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) ने पूर्व पार्टी अध्यक्ष शरद यादव के खिलाफ अभी तक किसी तरह की कार्रवाई नहीं की है. लेकिन तृणमूल सांसद मुकुल रॉय के राज्यसभा से इस्तीफे के बाद जेडीयू ने शरद से आग्रह किया है कि वह मुकुल रॉय का ही अनुसरण कर लें. पार्टी के महासचिव संजय झा ने बुधवार को शरद यादव से सार्वजनिक रूप से अपील की कि कम से कम अपनी सदस्यता जाने का इंतजार न करें, इससे सबको तकलीफ होगी. उन्होंने कहा कि शरद यादव ने अपनी मर्जी से ऐसा रास्ता चुना है, जिसके बारे में उनको मालूम है कि उनकी कोई अधिकारिक पार्टी नहीं है और न राज्यसभा की उनकी उम्मीदवारी के नामांकन पेपर पर साइन करने वाले पार्टी के कोई विधायक उनके साथ हैं.

यह भी पढ़ें : शरद यादव ने कहा, बिहार में अंधेर नगरी, चौपट राजा

संजय झा का कहना है कि जब पार्टी लाइन के खिलाफ शरदजी ने राजद के मंच से भाषण दिया, तब भी उन पर कोई कार्रवाई नहीं की गई. उनके तथाकथित राष्ट्रीय सम्मेलन में बिहार का न तो कई विधायक और न ही कोई जिला अध्यक्ष उपस्थित था. उन्होंने दो बार बिहार का दौरा किया, लेकिन एक भी सभा में 100 लोगों की उपस्थिति नहीं थी. इसलिए हम लोगों का उनसे आग्रह है कि जब आपने पार्टी की सदस्यता का त्याग कर दिया है, तब राज्यसभा के सभापति के फैसले का इंतजार न करें, क्योंकि उन्हें अच्छी तरह मालूम है कि उनकी सदस्यता रद्द होनी तय है.

VIDEO : शरद यादव ने कहा, पूरे देश में बनेगा महागठबंधन
इससे पहले सोमवार को पार्टी अध्यक्ष नीतीश कुमार ने शरद यादव पर तंज कसते हुए कहा था कि शरद जी एक समय हर सभा में बोलते थे कि लोकतंत्र लोक लाज से चलता है, लेकिन आज वह खुद लोक लाज को ताक पर रखकर वंशवाद, भ्रष्टाचार और परिवारवाद की राह पर चलने वाले लोगों के पिछलग्गू बन गए.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement