NDTV Khabar

BJP के बागी नेता सरयू राय को मिला पुराने दोस्‍त नीतीश कुमार का साथ

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) राजनीति के साथ साथ दोस्ती भी निभाते हैं. इसका ताज़ा उदाहरण है उनके द्वारा अपने पुराने कॉलेज के दिनों के मित्र सरयू राय (Saryu Roy) को जमशेदपुर पूर्व सीट पर समर्थन.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
BJP के बागी नेता सरयू राय को मिला पुराने दोस्‍त नीतीश कुमार का साथ

नीतीश कुमार के साथ सरयू राय (फाइल फोटो)

पटना:

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) राजनीति के साथ साथ दोस्ती भी निभाते हैं. इसका ताज़ा उदाहरण है उनके द्वारा अपने पुराने कॉलेज के दिनों के मित्र सरयू राय (Saryu Roy) को जमशेदपुर पूर्व सीट पर समर्थन. समर्थन की घोषणा विधिवत रूप से लोकसभा में जेडीयू संसदीय दल के नेता ललन सिंह ने रांची में की. ललन सिंह, जो चारा घोटाले में सरयू राय के साथ याचिकाकर्ता रहे हैं, उन्होंने कहा कि राय ने भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ मुहिम छेड़ी और सरकार में रहकर भी उन्होंने ये काम जारी रखा. जनता दल यूनाइटेड भी हमेशा भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ रही है और उनके साथ संबंधों का तक़ाज़ा है कि पार्टी उनकी उम्मीदवारी का समर्थन करेगी.

बीजेपी के बागी उम्‍मीदवार सरयू राय को JMM का समर्थन, हेमंत सोरेन बोले- BJP का असली चेहरा सामने आया


माना जा रहा है कि नीतीश कुमार के इशारे पर जेडीयू की तरफ़ से किसी को भी जमशेदपुर की किसी सीट से उम्मीदवारी नहीं दी गई. वहां के स्थानीय नेताओं ने सोमवार को माना था कि पार्टी की तरफ़ से इशारा किया गया है कि सरयू राय के समर्थन में काम करना है. दरअसल नीतीश इस बात से चिढ़े हुए हैं कि राय को टिकट से बेदख़ल करने में अन्य कारणों के साथ-साथ उनके साथ मित्रता को भी आधार बनाया गया और एक पुस्‍तक विमोचन समारोह का ज़िक्र किया गया जबकि उस समय बिहार में भाजपा के साथ सरकार बन चुकी थी.


रघुबर दास वो 'दाग' हैं जिसे 'मोदी डिटर्जेंट' और 'शाह लॉन्‍ड्री' भी धो नहीं सकती : सरयू राय

कई वर्ष पूर्व जब भाजपा नेता नीतीश कुमार को चारा घोटाले में लपेटना चाहते थे और बार-बार मांग करते थे कि उन्हें भी आरोपी बनाया जाये तब सरयू राय ने सार्वजनिक रूप से उस मांग का ना केवल विरोध किया था बल्कि कहा था कि ये राजनीतिक प्रतिशोध में अनावश्यक मांग की जा रही है. जिसके कारण बिहार भाजपा के नेता ख़ासकर सुशील मोदी उनसे ख़फ़ा भी हो गये.

झारखंड चुनाव : बीजेपी में बगावत, मुख्यमंत्री रघुबर दास का मुकाबला सरयू राय से होगा

टिप्पणियां

राजनीतिक धरातल पर इस समर्थन का कितना असर होगा फ़िलहाल नहीं कहा जा सकता लेकिन सरयू राय को इस समर्थन से एक राजनीतिक बल मिलेगा. हालांकि नामांकन भरने के समय ही उन्होंने नीतीश कुमार के इस क़दम के बारे में संकेत दे दिया था. नीतीश कुमार सरयू यादव का के लिए कैंपेन भी करेंगे.

VIDEO: टिकट कटने से नाराज बीजेपी के मंत्री सरयू राय ने दिया इस्तीफा



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... Delhi Election 2020: अरविंद केजरीवाल ने किया वादा, सरकार बनने पर इन 10 कामों की गारंटी

Advertisement