NDTV Khabar

झारखंड का जेल मैन्यूअल बना लालू यादव की परेशानी का नया कारण

सोमवार को राजद के चार नेता और एक वकील प्रभात कुमार लालू यादव से मिलने पहुंचे. लेकिन ये मुलाकात कुछ मिनटों की हो पायी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
झारखंड का जेल मैन्यूअल बना लालू यादव की परेशानी का नया कारण

लालू प्रसाद यादव (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. झारखंड का जेल मैन्यूअल बना लालू यादव की परेशानी का नया कारण
  2. अधिकांश नेताओं को उनसे मिलने की अनुमति नहीं मिली
  3. मैन्यूअल के अनुसार, सप्ताह में बस तीन लोग ही उनसे मिल सकते हैं
पटना: चारा घोटाला केस में दोषी होने के बाद लालू यादव जेल जाएंगे, इसके लिए उनकी पार्टी और परिवार समेत लालू यादव भी तैयार थे. लेकिन उन्हें इस बात का अंदाजा नहीं था कि झारखंड के जेल मैन्यूअल के कारण अब उनकी मनमर्जी नहीं चलेगी. दरअसल, सोमवार को राजद के चार नेता और एक वकील प्रभात कुमार लालू यादव से मिलने पहुंचे. लेकिन ये मुलाकात कुछ मिनटों की हो पायी. उसके बाद रांची की बिरसा मुंडा जेल की गेट पर पहुंचे अधिकांश नेताओं को उनसे मिलने की अनुमति नहीं मिली. उन्हें बताया गया कि झारखंड के जेल मैन्यूअल के अनुसार, सप्ताह में मात्र तीन लोग ही उनसे मिल सकते हैं. जिसका विरोध राजद के नेताओं ने ये कह कर किया कि भाजपा सरकार उन लोगों के साथ भेदभाव कर रही है.

यह भी पढ़ें: रघुवंश प्रसाद का BJP पर हमला, ‘लालू को जेल भेजना नरेंद्र मोदी का फैसला’

टिप्पणियां
इससे नाराज होकर राजद के कुछ नेता, जिसमें झारखंड अध्यक्ष अन्नपूर्णा देवी और भोला यादव मुख्यमंत्री रघुवर दास से मिले. इन नेताओं का कहना था कि लालू यादव जन नेता हैं, इसलिए उनके साथ जेल मैनुअल को शिथिल  कर और अधिक लोगों को मिलने दिया जाए. मुख्यमंत्री रघुवर दास ने उनकी बातों को सुना, लेकिन कोई आश्वासन नहीं दिया.

VIDEO: लालू यादव के खिलाफ साजिश, फैसले के खिलाफ उच्च न्यायालय जाएंगे: तेजस्वी यादव
झारखंड सरकार के अधिकारियों का कहना है कि लालू यादव जन नेता हैं. ये एक राजनीतिक सचाई हैं लेकिन वो एक घोटाले के मामले में दो बार कोर्ट द्वारा दोषी पाये गये है. यह भी एक कड़वा सच्चाई है, जिसे राजद के लोगों को स्वीकार करना चाहिए. फिलहाल, जब तक कोर्ट से मुलाकातियों की संख्या बढ़ाने का आदेश नहीं आता, तब तक फिलहाल तीन लोग ही उनसे मुलाकात कर सकते हैं.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement