आखिर बिहार में फिरौती के लिए अपहरण क्यों बढ़ता जा रहा है?

अपहरण से छूटने के बाद फिरौती की रकम का खुलासा न तो अपहृत करते हैं और न ही पुलिस प्रशासन के लोग, आखिर क्यों?

आखिर बिहार में फिरौती के लिए अपहरण क्यों बढ़ता जा रहा है?

खास बातें

  • बिहार में फिरौती के लिए हो रहे हैं लगातार अपहरण
  • विधायकों से भी मांगी जा रही है रंगदारी
  • पुलिस की छानबीन जारी, मगर अब तक खाली हाथ
पटना:

बिहार में विधायकों से रंगदारी के मामले में पुलिस अभी छानबीन कर ही रही थी कि अन्य जिलों में अपराधी एक पर एक व्यापारियों का अपहरण कर पुलिस को चुनौती दे रहे हैं. कई डॉक्टरों से भी रंगदारी मांगी गई है. मगर अपहरण से छूटने के बाद फिरौती की रकम का खुलासा न तो अपहृत करते हैं और न ही पुलिस प्रशासन के लोग, आखिर क्यों?

यूपी के हरदोई में लड़की को अगवा कर सामूहिक दुष्कर्म

ताजा मामला बिहार के जमुई का है, जहां एक व्यवसायी का अपहरण कर लिया गया और एक करोड़ की फिरौती की मांग की गई. वहीं दूसरी ओर औरंगाबाद जिले में लिबर्टी शोरूम के मालिक के बेटे आर्यन का अपहरण कर 1 करोड़ रुपये की मांग की गई और 20 लाख रुपये पर आकर बात बनी. इसके बाद आर्यन को अपहरणकर्ताओं ने छोड़ दिया. 

उधर, जमुई के लक्ष्मीपुर थाना क्षेत्र स्थित ककनचोर निवासी ईंट-भट्ठा व्यावसायी गोपाल मंडल का अज्ञात अपराधियों ने अपहरण कर लिया है. अपहरणकर्ताओं ने रविवार को परिजनों को फोनकर उन्‍हें छोड़ने के लिए एक करोड़ रुपये फिरौती की मांग की है. परिवारवालों को गोपाल मंडल के नंबर से ही फोन किया गया, जिसके बाद परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है.

यूपी की महिला पुलिसकर्मियों का कारनामा : मजिस्ट्रेट के घर में घुसकर की अपहरण की कोशिश

मामले का खुलासा तब हुआ जब जमुई बाजार में एक मोटरसाइकिल लावारिस हालत में थी और पुलिस की छानबीन में जानकारी मिली कि यह बाइक गोपाल मंडल की है. पुलिस इस केस की हर एंगल से जांच कर रही है. पुलिस ने गोपाल मंडल की जल्द रिहाई का दावा किया है. गोपाल मंडल की किडनैपिंग की खबर के बाद से व्यवसायी वर्ग में आक्रोश का माहौल है.

झारखंड के गिरिडीह से अपहृत ओडिशा का व्यवसायी बिहार से बरामद

बहरहाल, बिहर में फिरौती और रंगदारी के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं. हाल ही में पटना के किराना व्यवसायी से रंगदारों ने 25 लाख रुपये की रंगदारी की मांग की. 
बहरहाल, बिहार में बढ़ते फिरौती एवं रंगदारी की मांग तेज हो गई है. अभी-अभी पटना के किराना व्यवसायी से रंगदारों ने 25 लाख रुपये की रंगदारी मांगी गई है. वहीं हाल के दिनों में पटना एनएमसीएच में हड्डी रोग में कार्यरत डॉ. राजेंद्र प्रसाद से 10 लाख रुपये मांगे गए हैं, मगर पुलिस के हाथ खाली ही हैं. अब देखना है कि व्यवसायी गोपाल मंडल के बारे में पुलिस क्या खुलासा कर पाती है.

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com