NDTV Khabar

लालू लौटे पटना, कहा - निमंत्रण मिलता तो भी पटना विश्वविद्यालय के शताब्दी समारोह में नहीं जाते

लालू ने साफ किया कि एक ऐसे कार्यक्रम में जहां नीतीश और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दोनों मौजूद हों, वहां जाने का सवाल ही नहीं है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
लालू लौटे पटना, कहा - निमंत्रण मिलता तो भी पटना विश्वविद्यालय के शताब्दी समारोह में नहीं जाते

राजद प्रमुख लालू प्रसाद (फाइल फोटो)

पटना: राजद अध्यक्ष लालू यादव दो हफ़्ते के बाद पटना वापस लौटे. लालू यादव विभिन जांच एजेंसियों द्वारा पूछताछ के सिलसिले में दिल्ली में कैम्प कर रहे थे, लेकिन पटना आते ही वह अपने पुराने अंदाज में थे. सबसे पहले उन्होंने साफ़ किया कि पटना विश्वविद्यालय के शताब्दी समारोह में उन्हें अगर निमंत्रण मिलता तो भी नहीं जाते. लालू ने साफ किया कि एक ऐसे कार्यक्रम में जहां नीतीश और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दोनों मौजूद हों, वहां जाने का सवाल ही नहीं है. इसके बाद शनिवार के कार्यक्रम की चर्चा करते हुए लालू ने कहा कि छात्र छात्राओं और बिहारवासियों को इस कार्यक्रम के माध्यम से धोखा दिया गया है. उन्होंने छात्र जीवन से कई सुधार के कार्यक्रम किए लेकिन अब सब केवल डींग हांकते हैं.

टिप्पणियां
लालू पटना विश्वविद्यालय छात्र संघ के अध्यक्ष भी रहे हैं और सुशील मोदी उनके समय महासचिव होते थे. शनिवार को सुशील मोदी ने प्रधानमंत्री के सामने लालू का नाम लिया और बताया कि वह भी यहां के छात्र रहे हैं.

लालू ने प्रधानमंत्री की आलोचना करते हुए हर क्षेत्र में 2022 तक विकास का लक्ष्य पाने के दावों पर कहा कि आप उस समय तक रहेंगे क्या. लालू का कहना हैं कि चूंकि वर्तमान कार्यकाल में सरकार अपने वादों को पूरा नहीं कर पा रही है इसलिए पाच साल आगे का लक्ष्य लोगों को धोखा देने के लिये कहा जा रहा है. लालू के पटना वापस आने के बाद राज्य की राजनीति फिर गरमाने की उम्मीद की जा रही है. हालांकि पटना से बाहर रहने पर लालू और तेजस्वी ट्विटर के माध्यम से विरोधियों ख़ासकर नीतीश पर हमला बोलते रहे हैं.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement