NDTV Khabar

नीतीश ने कहा - लालू जी 70 साल के लगते कहां हैं, उनमें अब भी छात्र जीवन वाला जोश है

लालू के जन्मदिन के मौके पर उनके बेटे और बिहार के पथ निर्माण मंत्री तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश के हाथों राज्य के दो मेगा ब्रिज का उद्घाटन करवाया.

169 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
नीतीश ने कहा - लालू जी 70 साल के लगते कहां हैं, उनमें अब भी छात्र जीवन वाला जोश है

खास बातें

  1. लालू के जन्मदिन के मौके पर नीतीश ने दो मेगा ब्रिज का उद्घाटन किया
  2. नीतीश ने कहा- लालू जी में अब भी छात्र जीवन वाला जोश है
  3. लालू ने विपक्षी नेताओं पर कसा तंज- लार टपकाने वालों को हम मौका नहीं देंगे
पटना: आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव के जन्मदिन के मौके पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उनकी तारीफ करते हुए कहा कि कागजों पर लालू जी की उम्र भले ही 70 साल की हो गई हो, लेकिन वो अभी इतनी उम्र के लगते कहां है? उन्होंने कहा, अभी भी इनमें वही जोश है, जो छात्र जीवन में हुआ करता था. ये जोश हमेशा बरकरार रहे, मेरी यही शुभकामना है.

लालू के जन्मदिन के मौके पर उनके बेटे और बिहार के पथ निर्माण मंत्री तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश के हाथों राज्य के दो मेगा ब्रिज का उद्घाटन करवाया. इस सरकारी कार्यक्रम में खुद आरजेडी प्रमुख लालू यादव भी मौजूद थे. विपक्ष के नेता सुशील मोदी ने लालू यादव के जन्मदिन पर इस कार्यक्रम के आयोजन को लेकर आपत्ति जताई थी.

सुशील मोदी की आलोचना का जवाब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने यह सवाल उठाकर दिया कि जिस दीघा-सोनपुर ब्रिज के रेल सेवा का उद्घाटन किया गया था, उस वक्त केंद्र की बीजेपी ने सरकार बिहार के मुख्यमंत्री और उस वक्त के रेलमंत्री (मतलब नीतीश कुमार को) आमंत्रित करने की जरूरत भी नहीं समझी थी, जिसके कार्यकाल में इस ब्रिज का कार्य आरंभ हुआ था. जहां तक इस सेतु का नाम लोकनायक जयप्रकाश नारायण पर करने की बात है, तो ये फैसला 2002 में कार्यक्रम के समय ही हो गया था. तब सेतु के रेल लाइन के उद्घाटन के समय नामकरण क्यों नहीं किया गया. नीतीश ने बीजेपी नेताओं को सलाह दी कि चुनाव से पहले उन्होंने जितने वादा किए हैं, उसे पूरा करे. उन्होंने कहा कि जहां तक बिहार सरकार का सवाल है, वो पूरी निष्ठा से अपना काम करती रहेगी.

इस कार्यक्रम में नीतीश कुमार ने माना कि सड़क पुल के निर्माण में रेल मंत्री के रूप में लालू यादव की बहुत अहम भूमिका रही.  दरअसल नीतीश कुमार के रेल मंत्री के कार्यकाल में मात्र रेल पुल पर ही काम शुरू हुआ था, लेकिन बाद में जब नीतीश मुख्यमंत्री थे और लालू रेल मंत्री तब इस सड़क ब्रिज पर काम शुरू हुआ. इससे राजधानी पटना का उत्तर बिहार के अधिकांश जिलों से न केवल दूरी कम होगी, बल्कि गांधी सेतु पर भी वाहनों का भार काम होगा. फिलहाल गांधी सेतु पर मरम्मत का काम जारी है. रविवार को दीघा-सोनपुर के अलावा आरा-छपरा वीर कुंवर सिंह सेतु पर भी वाहनों का आवागमन शुरू हुआ.

कई महीनों के बाद किसी कार्यक्रम में एक साथ भाषण देने के मौका का पूरा फायदा उठाते हुए लालू यादव ने कहा कि सब लोग उनसे  पूछते हैं कि नीतीश के साथ संबंध ठीक हैं ना? लालू ने कहा कि जिनकी लार टपक रही है, वैसे लोगों को हम मौका देने वाले नहीं हैं. लालू ने कहा कि उन्हें कोई लालच नहीं हैं. उन्होंने कहा कि ऐसी खबरें कि अधिकारियों का ट्रासंफर उनके कारण नहीं हो रहा या वो सरकार नहीं चलने नहीं दे रहे, ये सब सरासर गलत हैं.

हाल के दिनों में इनकम टैक्स विभाग और अन्य जांच एजेंसियो के घेरे में आए लालू ने माना कि वो 'परेशानी के नक्षत्र' में पैदा हुए हैं, इसलिए समस्या उनके जीवन में आती रहेगी. लालू ने दावा किया कि महागठबंधन की सरकार पूरे समय चले, इसके लिए वह प्रतिबद्ध हैं.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement