NDTV Khabar

'संघ मुक्त भारत का नारा लगाने वाले नीतीश को BJP ने दिए थे दो ऑप्शन, सृजन में जेल जाओ या महागठबंधन तोड़ो'

इसके बाद लालू प्रसाद यादव ने ट्विटर पर नीतीश कुमार पर निशाना साधा है.

464 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
'संघ मुक्त भारत का नारा लगाने वाले नीतीश को BJP ने दिए थे दो ऑप्शन, सृजन में जेल जाओ या महागठबंधन तोड़ो'

लालू यादव ( फाइल फोटो )

नई दिल्ली: आरजेडी सृजन घोटाले को लेकर सीएम नीतीश कुमार को हर ओर घेरने की कोशिश कर रही है. आज ही आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव और उनके बेटे तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार पर तगड़ा हमला बोला है. इसके बाद लालू प्रसाद यादव ने ट्विटर पर भी नीतीश कुमार पर निशाना साधा है. उन्होंने ट्वीट कर नीतीश कुमार पर आरोप लगाया है कि सृजन घोटाले में अवैध रूप से सरकारी पैसा जमा कराने का आदेश देने वाले ज़िला अधिकारी को नीतीश ने अपनी पार्टी से 2014 का लोकसभा चुनाव लड़वाया था. 2007 में भागलपुर के तत्कालीन डीएम ने सरकारी ख़ज़ाने का पैसा सृजन के अकाउंट मे जमा करने पर पाबंदी लगा दी थी. नीतीश बताएं फिर किसने शुरू करवाया ? वहीं सीएजी की एक रिपोर्ट का जिक्र करते हुए कहा गया है कि मार्च 2008 की रिपोर्ट में स्पष्ट रूप से सृजन घोटाले का ज़िक्र किया गया है. लेकिन नीतीश ने कोई संज्ञान नहीं लिया. क्या ये रिपोर्ट की रिपोर्ट गलत है.
 
 
 

लालू ने कहा 'बीजेपी जानती है लालू लड़ाका है रणछोड़ नहीं है. बीजेपी ने संघ मुक्त भारत का नारा लगाने वाले नीतीश को दो ऑप्शन दिए सृजन में जेल जाओ या महागठबंधन तोड़ो.  आरजेडी  नेता ने कहा कि बीजेपी के शीर्ष नेताओं को सृजन का पता लग चुका था. नीतीश के पास संदेश भेजा गया. चिंतित नीतीश पटना-दिल्ली, दिल्ली-पटना करने लगे.
  लालू ने आरोप लगाया कि 10 जुलाई से 29 जुलाई तक चार बार चेक बाउन्स हुआ. सरकार की मनुहार के बावजूद सृजन के लोग सरकारी ख़ज़ाने का रुपया लौटाने को तैयार नहीं थे. अब बीजेपी से हुई डील के मुताबिक  सीबीआई नीतीश पर एफआईआर दर्ज नहीं कर रही है. हमारे पास संलिप्तता से संबंधित सभी काग़ज़ात मौजूद हैं.
   
आपको बता दें कि लगातार किए गए इस ट्विट में वही बातें लिखी गई हैं जो भागलपुुर रैली में लालू प्रसाद यादव ने बोली थीं. वहीं लालू की ओर से किए जा रहे ट्विटर पर किए जा रहे हमले  जवाब देने के लिए बीजेपी सांसद हुकुमदेव यादव ने भी एक ट्वीट किया  है जिसमें उन्होंने लिखा है कि नीतीश कुमार के छोड़ने के बाद से वह खड़े बोने के लायक नहीं बचे है. 
   


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement