NDTV Khabar

बिहार के नेताओं की खत्म हुई भाषा की शालीनता, लालू ने नीतीश को बताया 'उल्लू'

लालू यादव रविवार को सृजन घोटाले के सिलसिले में भागलपुर की यात्रा करेंगे और एक जनसभा को संबोधित करेंगे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बिहार के नेताओं की खत्म हुई भाषा की शालीनता, लालू ने नीतीश को बताया 'उल्लू'

लालू यादव सृजन घोटाले को लेकर रैली करने जा रहे हैं (फाइल फोटो)

पटना:

बिहार के नेताओं में भाषा की शालीनता अब धीरे-धीरे ख़त्म होती जा रही है. चाहे पार्टी के प्रवक्ता हों या वरिष्ठ नेता, सब बयान देने में शब्दों के चयन में कुछ भी बोल देते हैं. मंगलवार को राजद अध्यक्ष लालू यादव ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को उल्लू तक कह डाला. दरअसल, नीतीश कुमार ने सोमवार को लालू की रैली में उमड़ी भीड़ पर कहा था कि भीड़ कुछ ख़ास नहीं थी. तभी से लालू का पारा सातवें आसमान पर है. लालू ने नीतीश कुमार को अपनी विशेष शाखा से रिपोर्ट लेने की भी सलाह दी.

यह भी पढ़ें: तेजस्वी यादव ने किया पलटवार, 'नीतीश बताएं वो खुद किसके डार्लिंग हैं'

लालू यादव रविवार को सृजन घोटाले के सिलसिले में भागलपुर की यात्रा करेंगे और एक जनसभा को संबोधित करेंगे. उन्होंने भविष्यवाणी कि इस घोटाले में येन केन प्रकारेण भाजपा नीतीश और सुशील मोदी से इस्तीफ़ा ले लेगी. उन्होंने एक बार फिर आरोप लगाया कि इस घोटाले में दोनों नेताओं की मिलीभगत रही है. हालांकि लालू यादव ने अपने आरोपों के समर्थन में इस घोटाले में कोई कागज़ात नहीं जारी किए हैं.


टिप्पणियां

यह भी पढ़ें: नीतीश कुमार ने माना लालू यादव का पूरा भाषण सुना था, रैली को बताया परिवार का उत्सव

लेकिन लालू यादव का मुख्यमंत्री को उल्लू कहना निश्चित रूप अगले कुछ दिनों में जनता दल प्रवक्ता की ओर से जवाबी हमला तय है. नीतीश कुमार ने सोमवार को कहा था कि उनके बारे में जैसी टिप्पणी लालू यादव द्वारा की जाती है, उस पर बोलना बेकार है. पिछले दिनों एक सभा में लालू ने नीतीश कुमार को दोगला तक कह डाला था.
 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement