NDTV Khabar

लालू के बेटे तेजप्रताप ने नीतीश कुमार और सुशील मोदी पर जमकर साधा निशाना

सरकार से बेदखल हुए राजद अध्यक्ष लालू यादव के बेटे एवं पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव ने अपने विरोधियों पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने अभद्र टिपण्णी करते हुए बार-बार अपना आपा खोया और नीतीश-सुशील मोदी को गर्लफ्रेंड-बॉयफ्रेंड तक की संज्ञा दे दी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
लालू के बेटे तेजप्रताप ने नीतीश कुमार और सुशील मोदी पर जमकर साधा निशाना

बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव. (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. वैशाली जिले के महुआ में रैली को कर रहे थे संबोधित
  2. तेजप्रताप ने बार-बार आपा खोया
  3. उन्होंने नीतीश-सुशील मोदी को गर्लफ्रेंड-ब्वॉयफ्रेंड की संज्ञा दी
पटना: सरकार से बेदखल हुए राजद अध्यक्ष लालू यादव के बेटे एवं पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव ने अपने विरोधियों पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने अभद्र टिपण्णी करते हुए बार-बार अपना आपा खोया और नीतीश-सुशील मोदी को गर्लफ्रेंड-बॉयफ्रेंड तक की संज्ञा दे दी. तेजप्रताप ने कहा, नीतीश और सुशील मोदी महिषासुर हैं उनका वध होगा. इस दौरान तेजप्रताप ने नीतीश को डरपोक मुख्यमंत्री बताते हुए चुनाव तक की चुनौती दे डाली. उन्होंने कहा कि नीतीश ने अपनी पगड़ी आरएसएस के गोद में रख दिया है.

यह भी पढ़ें : बिहार में क्यों बढ़ीं आरजेडी नेता तेजप्रताप यादव की मुश्किलें, पढ़ें पूरी खबर

वैशाली जिले के महुआ में अपने विधानसभा क्षेत्र के दौरे पर निकले लालू यादव के बेटे तेजप्रताप ने नीतीश कुमार पर शब्दों के ऐसे बाण चलाए, जिससे पता चलता है कि न केवल राजनीतिक भाषा की मर्यादा टूटी बल्कि चाचा भतीजे के रिश्तों की आखरी गांठ भी टूट चुकी है. बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री ने नीतीश कुमार और सुशील मोदी को लेकर कहा की दोनों गर्लफ्रेंड-बॉयफ्रेंड जैसे हैं और दोनों ने आपस में शायद शादी कर ली हो. 

टिप्पणियां
यह भी पढ़ें : लालू यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव के खिलाफ केस हुआ दर्ज

तेजप्रताप ने कहा की वह किसी से डरने वाले नहीं हैं और नीतीश कुमार को डरपोक मुख्यमंत्री बता दिया. तेजप्रताप ने कहा कि जिस तरीके से रातों रात नीतीश कुमार जी और सुशील मोदी जी फेरा करके ब्याह का खेल किए हैं हम बनावटी नहीं करते हैं. मुंह पर जवाब देते हैं और किसी से डरने वाले नहीं हैं. हम इस बात के साक्षी हैं कि कैसे नीतीश कुमार जी मेरे आवास पर आए. आदरणीय लालू प्रसाद यादव जी बैठे थे. वहां नीतीश जी आए और पैर पकड़कर रोने लगे. मैं भी वहीं मौजूद था.   

VIDEO: हर जगह नीतीश की वादाख़िलाफ़ी का ज़िक्र
इससे आगे तेजप्रताप यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री बनने के लिए नीतीश कुमार ने लालू जी के पैर पकड़े थे. साफ है कि गठबंधन टूटने के बाद राजनीतिक रिश्तों में दूरी आ गई है, लेकिन विरोध और हमलों के लिए तेजप्रताप ने जिस भाषा और शब्दों का प्रयोग किया है वह बताता है की नीतीश और लालू परिवार में न केवल गठबंधन टूटा है बल्कि रिश्ते की शायद आखरी डोर भी टूट चुकी है. 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement