NDTV Khabar

बिहार में 10 लाख रुपये मूल्य की शराब जब्त 

थाना प्रभारी ने बताया कि मौके से वहां खड़ी एक मोटरसाइकिल और पिकअप वैन जब्त किया गया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बिहार में 10 लाख रुपये मूल्य की शराब जब्त 

बिहार पुलिस ने शराब तस्कर को किया गिरफ्तार

पटना: मुजफ्फरपुर जिले के सुजावलपुर चौक से पुलिस ने 10 लाख रुपये मूल्य की भारत में निर्मित विदेशी शराब (आईएमएफएल) जब्त की. बिहार में शराब पर प्रतिबंध है.थाना प्रभारी रवि शंकर सिंह ने बताया कि एक गुप्त सूचना के आधार पर काम करते हुए पुलिस की एक टीम ने जिले के सकरा पुलिस स्टेशन क्षेत्र में सुजावलपुर चौक के निकट एक स्थान पर शनिवार सुबह छापा मारा. इस छापेमारी में पुलिस ने शराब के 478 कार्टन ट्रक से बरामद किए. इस पर हरियाणा की पंजीकरण संख्या दर्ज थी. उन्होंने बताया कि पुलिस की टीम ने इस क्षेत्र में तब छापेमारी की जब शराब के कार्टन को ट्रक से निकालकर एक पिकअप वैन में रखा जा रहा था.

यह भी पढ़ें: बिहार में शराब पीने के आरोप में हर 10 मिनट में हो रही है 1 गिरफ्तारी

थाना प्रभारी ने बताया कि मौके से वहां खड़ी एक मोटरसाइकिल और पिकअप वैन जब्त किया गया. उन्होंने बताया कि ट्रक का चालक और शराब को ट्रक से उतार रहे अन्य व्यक्ति घटनास्थल से फरार होने में सफल रहे. सत्ता में आने के बाद नीतीश कुमार सरकार ने बिहार में 2016 में शराब की बिक्री पर प्रतिबंध लगा दिया गया था. इसके तहत यहां अंग्रेजी शराब सहित अन्य शराब की बिक्री , निर्माण और पीने पर रोक लगा दिया गया था.

यह भी पढ़ें: ED और CBI खटमल, इनके काटने की परवाह नहीं करता : लालू यादव

गौरतलब है कि राज्य में शराबबंदी कानून के लागू होने के बाद कड़े नियम लागू किए गए हैं. बिहार के सीएम ने कुछ दिन पहले जानकारी दी थी कि इस नियम की वजह से हर एक मिनट में एक आरोपी की गिरफ्तारी की जा रही है. बिहार सरकार द्वारा जारी किए गए आंकड़ो के अनुसार बिहार में शराब बंदी कानून का पालन न करने पर हर 10 मिनट में 1 आरोपी को गिरफ्तार किया जा रहा है.यानी की बिहार पुलिस हर दिन 172 ऐसे लोगों को गिरफ्तार कर रही है जो इस कानून का उल्लघंन करते हैं.

यह भी पढ़ें: बिहार के बेगूसराय जिले में विदेशी शराब की 100 पेटियां जब्त की गयीं

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने विधानसभा को बताया कि अप्रैल 2016 से अब तक ऐसा करने वाले कुल 1.21 लाख आरोपियों को पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है. वहीं 1 अप्रैल 2016 से 6 मार्च 2018 तक के बीच संबंधित विभाग ने कुल 6.5 लाख छापेमारी की है. इनमें कुल 2 मिलियन लीटर शराब जब्त की गई.

टिप्पणियां
VIDEO: नीतीश कुमार ने शराबबंदी पर बरती ढील.


गौरतलब है कि नीतीश कुमार की सरकार ने 1 अप्रैल 2016 को राज्य में देशी शराब तो तुरंत प्रभाव से और अगले छह महीने में हर किस्म की शराब को बंद करने का एलान किया था. (इनपुट भाषा से) 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement