NDTV Khabar

बिहार: शख्स ने शर्ट और जूते के फीते से पुलिस लॉकअप में लगाई फांसी, थाने में हड़कंप

बिहार के रोहतास जिला के इन्द्रपुरी थाना में एक व्यक्ति ने फांसी लगा कर खुदकुशी कर ली.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बिहार: शख्स ने शर्ट और जूते के फीते से पुलिस लॉकअप में लगाई फांसी, थाने में हड़कंप

प्रतीकात्मक फोटो

खास बातें

  1. शख्स ने थाने में लगाई फांसी
  2. कथित तौर पर शर्ट और जूते के फीते से लगाई फांसी
  3. बिहार के रोहतास जिले की घटना
सासाराम:

बिहार के रोहतास जिला के इन्द्रपुरी थाना में एक व्यक्ति ने फांसी लगा कर खुदकुशी कर ली. अपर पुलिस अधीक्षक संजय कुमार ने बताया कि शख्स ने कथित तौर पर अपनी शर्ट और जूते के फीते से इंद्रपुरी पुलिस स्टेशन में फांसी लगा ली. पुलिस अधीक्षक सत्यवीर सिंह ने बुधवार को बताया कि मृतक का नाम श्रीकांत सिंह (45) है और वह तिलौथू थाना क्षेत्र के अंतर्गत हुरका के रहने वाले थे. उन्होंने कहा कि जांच में प्रथम दृष्टया इंद्रपुरी थाना अध्यक्ष और संबंधित पुलिसकर्मियों की लापरवाही पायी गयी है. सत्यवीर सिंह ने बताया कि शव का पोस्टमार्टम सासाराम सदर अस्पताल में मेडिकल टीम द्वारा कराया गया है. जो भी दोषी होंगे उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी. 

हरियाणा में महिला और दलित ‘प्रेमी' को जूतों की माला पहनाकर घुमाया, वीडियो बनाया


श्रीकांत को ट्रैक्टर चोरी के आरोप में मंगलवार की रात उसके घर से हिरासत में लेकर पुलिस ने इन्द्रपुरी थाना के हाजत में बंद किया था. मृतक के परिजन ने पुलिस की भूमिका पर सवाल उठाते हुए आरोप लगाया कि पुलिस श्रीकांत को हिरासत में लेकर मारते-पीटते हुए घर से ले गई थी. मृतक के एक पुत्र अभिषेक को भी पुलिस ने हिरासत में लिया था लेकिन नाबालिग होने के कारण हाजत में बंद नही किया गया और उसे बीती रात ही छोड़ दिया था. मृतक की पत्नी रीना देवी ने पुलिसिया कार्रवाई पर सवाल उठाते हुए बताया कि आज सुबह 5 बजे इन्द्रपुरी थाना की पुलिस उनके घर पहुंची और उन्हें, उनके छोटे पुत्र एवं मुखिया रेशमा देवी को कुछ कागजी प्रकिया करने की बात कर इन्द्रपुरी थाना लाई. 

...जब बिहार DGP ने खोया आपा, बोले- अगर DGP भी रात में अकेले जाएंगे तो गोली लग सकती है

उन्होंने कहा कि थाना पर पहुंचने पर मेरे पति मृत अवस्था में हाजत में पड़े हुए हैं. बाद में श्रीकांत के छोटे पुत्र द्वारा अपने गांव के अन्य लोगों को इसकी सूचना देने पर ग्रामीण इन्द्रपुरी थाना पहुंच कर थानाध्यक्ष दीपक झा के विरोध में नारेबाजी करने लगे तथा थानाध्यक्ष को गिरफ्तार करने की मांग करने लगे. थानाध्यक्ष द्वारा अपने वरीय अधिकारियों की सूचना दी गयी, जिसके उपरांत भारी संख्या में पुलिस बल के साथ अधिकारी ने हालात पर काबू पाया. मृतक के परिजन ने श्रीकांत की मौत के लिए इन्द्रपुरी थानाध्यक्ष एवं जमादार संतोष कुमार को दोषी ठहराया है. डेहरी के पुलिस उपाधीक्षक संजय कुमार ने आक्रोषित ग्रामीणों से कहा कि आवेदक के आवेदन के आधार पर कार्रवाई की जाएगी तथा इसकी जांच फॉरेंसिक विभाग द्वारा कराई जाएगी.

टिप्पणियां

VIDEO: व्यापारी ने खुद को गोली मारने से पहले पूरे परिवार को मौत की नींद सुलाया



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement