NDTV Khabar

कुशवाहा के ‘इफ्तार’ में नहीं दिखे NDA के अधिकांश नेता, BJP नेता ने दी यह ‘खास सलाह’

रविवार को केंद्रीय मंत्री उपेन्द्र कुशवाह द्वारा पटना में इफ़्तार का आयोजन किया गया, जहां बिहार भाजपा के अध्यक्ष नित्यानंद राय के अलावा कोई घटक दल का नेता नहीं दिखा.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कुशवाहा के ‘इफ्तार’ में नहीं दिखे NDA के अधिकांश नेता, BJP नेता ने दी यह ‘खास सलाह’

केंद्रीय मंत्री उपेन्द्र कुशवाह द्वारा रविवार को पटना में इफ़्तार का आयोजन किया गया.

खास बातें

  1. कुशवाहा के ‘इफ्तार’ में नहीं दिखे NDA के अधिकांश नेता
  2. बिहार भाजपा के अध्यक्ष नित्यानंद राय उनकी इफ्तार में पहुंचे
  3. BJP नेता ने कुशवाहा को दी यह ‘खास सलाह’
पटना: बिहार में इस वर्ष एनडीए के सभी घटक दल इफ़्तार का आयोजन कर चुके हैं. सबसे पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इफ़्तार का भोज दिया, उसके बाद केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान और उपमुख्य मंत्री सुशील मोदी ने इफ़्तार दिया. रविवार को केंद्रीय मंत्री उपेन्द्र कुशवाह द्वारा पटना में इफ़्तार का आयोजन किया गया, जहां बिहार भाजपा के अध्यक्ष नित्यानंद राय के अलावा कोई घटक दल का नेता नहीं दिखा.

तेजस्वी ने विधिवत रूप से उपेन्द्र कुशवाहा से NDA का साथ छोड़ने की अपील की

हालांकि, उपेंद्र कुशवाहा भी ना नीतीश, ना पासवान और ना ही सुशील मोदी के इफ़्तार में उपस्थित थे. जिस तरह से एनडीए नेताओं ने कुशवाहा की इफ्तार से कन्नी काटी है, उससे साफ़ है कि भाजपा फिलहाल कुशवाह का कोई मान-मनौव्वल नहीं करने वाली. एक भाजपा नेता के अनुसार, अगर कुशवाहा को एनडीए में रहना है तो, वो हमारी शर्तों पर रहे, अन्यथा नीतीश कुमार उनसे कई गुना बड़े नेता हैं. 

क्या हो रहा है तेजप्रताप और तेजस्वी के बीच?

टिप्पणियां
भाजपा नेताओं का मानना है कि कुशवाहा खुद विधानसभा और लोकसभा चुनाव मोदी लहर में जीते हैं, इसलिए उन्हें अपने राजनीतिक हैसियत का भी ख्याल होना चाहिये. रविवार को हालांकि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इफ़्तार के किए निकले ज़रूर, लेकिन वो अपने पार्टी के नेता ग़ुलाम गोस के घर पर गये. ये अभी साफ़ नहीं कि उन्हें उपेन्द्र कुशवाहा ने निमंत्रण दिया था या नहीं. 

VIDEO: बिहार एनडीए में सब ठीक नहीं, कुशवाहा की पार्टी के बगावती सुर
इस इफ़्तार के बाद कुशवाहा  ने कहा कि वो एनडीए में हैं और रहेंगे. जहां तक दूसरे दल के लोगों की अनुपस्थिति का सवाल है, तो उनकी व्यस्तता रही होगी. राजद के न्योते के बारे में उनका कहना था कि इसका कोई जनधार नहीं रहा.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement