बिहार: नौ बच्‍चों की मौत के आरोपी मनोज बैठा ने किया सरेंडर

पुलिस इस मामले में मनोज बैठा को अस्‍पताल लेकर जाएगी, जहां ये जांच की जाएगी की सड़क दुर्घटना के दौरान उसके शरीर पर चोट आई थी. इसके बाद से अदालत के समक्ष पेश किया जाएगा. उधर विपक्षी दल आरजेडी ने इस मामले पर मंगलवार को विधानसभा के बाहर और भीतर जम कर हंगामा किया.

बिहार: नौ बच्‍चों की मौत के आरोपी मनोज बैठा ने किया सरेंडर

पुलिस की गिरफ्त में आरोपी मनोज बैठा

खास बातें

  • मनोज बैठा ने मुजफ्फरपुर के एसपी के समक्ष सरेंडर किया है
  • इस मामले में आरजेडी ने विधानसभा के बाहर और भीतर हंगामा किया
  • आरोपी बीजेपी से जुड़ा था इसकी वजह से उसे बख्शा नहीं जा सकता: सुशील मोदी
पटना :

बिहार में बोलेरो से कुचलकर हुई 9 बच्चों की मौत के मामले में भाजपा नेता मनोज बैठा ने बुधवार को पुलिस स्‍टेशन जाकर सरेंडर किया. बताया जा रहा है कि मनोज बैठा ने मुजफ्फरपुर के एसपी के समक्ष सरेंडर किया है और इसके बाद पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया है. पुलिस इस मामले में मनोज बैठा को अस्‍पताल लेकर जाएगी, जहां ये जांच की जाएगी की सड़क दुर्घटना के दौरान उसके शरीर पर चोट आई थी. इसके बाद से अदालत के समक्ष पेश किया जाएगा. उधर विपक्षी दल आरजेडी ने इस मामले पर मंगलवार को विधानसभा के बाहर और भीतर जम कर हंगामा किया.

तेजस्वी यादव का दावा, ‘नीतीश कुमार के मंत्रियों की शराब पीते फोटो उनके पास है’

वहीं डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने कहा कि आरोपी बीजेपी से जुड़ा था इसकी वजह से उसे बख्शा नहीं जा सकता, सख्त कार्रवाई होगी. इस मामले में बीजेपी पहले ये कहती रही कि आरोपी मनोज बैठा का उसकी पार्टी से कोई लेना देना नहीं है, लेकिन किरकिरी के बाद उसे पार्टी से सस्पेंड किया गया और उसके खिलाफ़ मामला दर्ज हुआ. 

मंगलवार को बिहार विधानमंडल के दोनों सदनों की कार्यवाही विपक्षी सदस्यों के हंगामे और नारेबाजी के कारण बाधित हुई. मुजफ्फरपुर जिले में गत शनिवार को सीतामढी जिला निवासी और भाजपा नेता मनोज बैठा के एक वाहन से नौ स्कूली बच्चों की मौत होने की घटना सहित अन्य विषयों पर सबसे पहले चर्चा कराए जाने की मांग को लेकर विपक्षी सदस्यों के हंगामे और नारेबाजी के कारण बिहार विधानमंडल के दोनों सदनों की कार्यवाही भोजनावकाश तक के लिए स्थगित कर दी गयी थी.

तेजस्वी ने नीतीश कुमार को क्यों कहा, चाचा अब तो सुशील मोदी जी से माफी मंगवा दीजिए...

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

बिहार विधानसभा की कार्यवाही शुरू होने पर प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी प्रसाद यादव ने नौ स्कूली बच्चों की मौत के मामले पर सबसे पहले चर्चा कराए जाने की मांग की. बिहार विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी ने विपक्षी सदस्यों से इस विषय को उचित समय पर उठाए जाने और प्रश्नकाल को सुचारू रूप से चलने देने की अपील की लेकिन विपक्षी सदस्य सरकार विरोधी नारेबाजी करने लगे.

VIDEO: बोलेरो सड़क हादसे मामले में RJD ने बिहार सरकार को दिया अल्‍टीमेटम

विपक्ष के हंगामा करने और नारेबाजी के समय मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी सदन में मौजूद नहीं थे. बिहार विधान परिषद की कार्यवाही शुरू होने पर राजद के सुधीर यादव के मुजफ्फरपुर जिले में स्कूली बच्चों की मौत मामले पर लाए गए अपने कार्यस्थगन पर सबसे पहले चर्चा कराए जाने की मांग को उपसभापति हारूण राशीद ने अस्वीकृत कर दिया. इसके बाद राजद सदस्य हंगामा और नारेबाजी करने लगे जिस कारण कार्यवाही को अपराह्न ढाई बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया था.