NDTV Khabar

मुजफ्फरपुर रेप कांड : CBI ने 12 घंटे पूछताछ के बाद मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर के बेटे राहुल को छोड़ा
पढ़ें | Read IN

केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने आश्रय गृह यौन कांड के आरोपी ब्रजेश ठाकुर के बेटे राहुल आनंद को रविवार को अपनी हिरासत से मुक्त कर दिया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मुजफ्फरपुर रेप कांड : CBI ने 12 घंटे पूछताछ के बाद मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर के बेटे राहुल को छोड़ा

ब्रजेश ठाकुर के बेटे राहुल आनंद को रविवार को अपनी हिरासत से मुक्त कर दिया. (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. ब्रजेश ठाकुर के बेटे राहुल को सीबीआई ने छोड़ा
  2. करीब 12 घंटे की पूछताछ के बाद सीबीआई ने छोड़ा
  3. मुजफ्फरपुर रेप कांड का मुख्य आरोपी है ब्रजेश ठाकुर
मुजफ्फरपुर: केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने आश्रय गृह यौन कांड के आरोपी ब्रजेश ठाकुर के बेटे राहुल आनंद को रविवार को अपनी हिरासत से मुक्त कर दिया. सीबीआई टीम ने शनिवार रात राहुल आनंद को उसके घर से पकड़ा था. राहुल कई घंटे की सीबीआई पूछताछ के बाद रविवार तड़के अपने घर लौटा. सीबीआई टीम ने करीब 12 घंटे तक उस परिसर की तलाशी ली थी जहां अब सील किए जा चुका आश्रयगृह और ठाकुर परिवार के स्वामित्व वाले हिंदी दैनिक ‘प्रात:कमल’ का कार्यालय है. समझा जाता है कि सीबीआई विभिन्न कोण को ध्यान में रख जांच कर रही है. इनमें मुजफ्फरपुर आश्रय गृह में लड़कियों के यौन शोषण, ठाकुर के नियंत्रण वाले एनजीओ को प्राप्त सरकारी धन का दुरुपयोग और मुख्य आरोपी का रसूखदारों से कथित संबंध शामिल हैं. 

यह भी पढ़ें: मुजफ्फरपुर रेप कांड की जड़ें कितनी गहरीं? जेल में बंद ब्रजेश ठाकुर के पास से मिली लिस्ट में मंत्री जी का भी नाम

सोशल ऑडिट में लड़कियों के साथ यौन उत्पीड़न की बात सामने आने के पश्चात पुलिस ने इस मामले में प्राथमिकी दर्ज की थी और जून में एनजीओ सेवा संकल्प एवम विकास समिति को काली सूची में डाल दिया गया था. टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज की ऑडिट रिपोर्ट में आश्रय गृह में नाबालिग लड़कियों के शारीरिक शोषण की स्पष्ट जानकारी दी गयी थी. शनिवार को मुजफ्फरपुर जेल में छापे के दौरान कई प्रतिबंधित सामग्रियों के साथ ही ठाकुर के पास से कागज का एक ऐसा टुकड़ा मिला था जिस पर 40 लोगों के नाम एवं फोन नंबर थे. 

यह भी पढ़ें: अब पटना के आसरा गृह में दो महिलाओं की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत, पुलिस को नहीं लग पाई भनक

टिप्पणियां
जिलाधिकारी मोहम्मद सुहैल ने बताया कि कागज का टुकड़ा जांच के लिए मिठनपुरा थाने को सौंप दिया गया था. यदि यह पाया गया कि ठाकुर जेल से इन नंबरों में से किसी पर फोन कर रहा था तो इस मामले में शिकायत भी दर्ज की जा सकती है. इस बीच, जिला बाल सुरक्षा अधिकारी रवि रौशन की पत्नी शिभा कुमारी के खिलाफ मुजफ्फरपुर के महिला थाने में प्राथमिकी दर्ज की गयी. रवि रोशन इस स्कैंडल में अबतक गिरफ्तार किये गये दस लोगों में एक है. शिभा ने हाल ही यह आरोप लगाकर तहलका मचा दिया था कि पूर्व समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा का पति इस आश्रय गृह में नियमित रूप से आता था और "बड़ी मछली" को बचाने के लिए रौशन को बलि का बकरा बनाया जा रहा है. 

VIDEO: मुज़फ़्फ़रपुर शेल्टर होम रेप केस में तेजस्वी ने साधा निशाना, CBI टीम पहुंची जांच के लिए
मंजू वर्मा ने पिछले हफ्ते मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था और कहा था कि उनके पति निर्दोष हैं. उन्होंने शिभा कुमारी के विरुद्ध मानहानि का मुकदमा दर्ज करने की धमकी दी थी. यह प्राथमिकी उच्चतम न्यायालय के निर्देश पर दर्ज की गयी है. उच्चतम न्यायालय ने इस मामले का स्वत: संज्ञान लेते हुए इस बात पर नाखुशी प्रकट की थी कि शिभा ने कानून का उल्लंघन करते हुए कुछ पीड़ितों की पहचान सार्वजनिक कर दी.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement