NDTV Khabar

मुजफ्फरपुर बालिका आश्रय रेप कांड हुआ और भी भयावह, 42 में से 34 बच्चियों से रेप की पुष्टि

बिहार के मुजफ्फरपुर में बालिका आश्रय गृह रेप कांड में आंकड़े और भी ज्यादा भयावह हो गये हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मुजफ्फरपुर बालिका आश्रय रेप कांड हुआ और भी भयावह, 42 में से 34 बच्चियों से रेप की पुष्टि

प्रतीकात्मक तस्वीर

पटना: बिहार के मुजफ्फरपुर में बालिका आश्रय गृह रेप कांड में आंकड़े और भी ज्यादा भयावह हो गये हैं. बालिका गृह की 42 में से 34 बच्चियों से बलात्कार की बात सामने आई है. मुजफ्फरपुर एसएसपी हरप्रीत कौर ने कहा कि अब तक 34 बच्चियों से रेप की पुष्टि हुई है. बता दें कि पहले 29 बच्चियों से रेप की बात पुष्ट हुई थी. हालांकि, बिहार की नीतीश कुमार सरकार ने मुजफ्फरपुर जिला स्थित एक बालिका गृह की बालिकाओं के यौन उत्पीड़न मामले की जांच सीबीआई से कराने के आदेश दे दिये हैं. 

बिहार : मुजफ्फरपुर के बालिका गृह में 29 बच्चियों से रेप की पुष्टि, एक बच्ची की हत्या कर गाड़ने का भी आरोप

सरकार की ओर से उसमें कहा गया है कि भ्रम का वातावरण नहीं रहे, इसलिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मुख्य सचिव, पुलिस महानिदेशक और गृह विभाग के प्रधान सचिव को तत्काल इस मामले की जांच सीबीआई के सुपुर्द करने का निर्देश दिया है. मामले की तहकीकात निष्पक्ष ढंग से हो, इसके लिए विपक्ष इसकी जांच उच्च न्यायालय की निगरानी में सीबीआई से कराने की मांग कर रहा था. बिहार विधानमंडल और संसद में विपक्षी दलों के सदस्यों मामला सदन में उठाये जाने और इसपर केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह के बयान के बाद बिहार के पुलिस महानिदेशक के एस द्विवेदी ने 24 जुलाई को कहा था, ‘‘मैं अपनी जांच से पूरी तरह संतुष्ट हूं. मुझे इसमें कोई खामी नजर नहीं आ रही। इसलिए नहीं लगता कि सीबीआई या अन्य किसी एजेंसी द्वारा जांच किए जाने की आवश्यकता है.’

बिहार : आश्रय गृह में चल रहा था सेक्स रैकेट, 46 नाबालिग लड़कियां मुक्त कराईं

बिहार विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी प्रसाद यादव ने आरोप लगाया कि इसमें समाज कल्याण मंत्री के पति के अलावा बिहार सरकार के एक अन्य मंत्री का भी नाम आया है. हालांकि, इस मामले में समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा और सुरेश शर्मा ने स्पष्ट कर दिया है कि अगर उनके ऊपल लगे ये आरोप साबित होते हैं तो वह अपने पद से इस्तीफा दे देंगे. 

एक कैंपस के भीतर 29 बच्चियों के साथ बलात्कार होता रहा, बिहार सोता रहा

खुलासे के बाद इस बालिका गृह की गहन जांच शुरू हो गई है. फॉरेंसिक टीम ने यहां खुदाई भी की. फिलहाल यहां रहने  वाली सभी बच्चियों को दूसरे शेल्टर होम में शिफ्ट कर दिया गया है. पुलिस के मुताबिक इस मामले में पिछले दिनों जिला प्रशासन के एक अधिकारी को भी गिरफ्तार किया गया था. दूसरी तरफ, इस पूरे मामले को लेकर आरजेडी के कार्यकारी प्रमुख तेजस्वी यादव ने सरकार पर हमला बोला है. उन्होंने कहा है कि राज्य सरकार शेल्टर होम में बच्चियों की सुरक्षा करने में नाकाम रही है.

मुजफ्फरपुर रेप कांड: बिहार के दोनों मंत्रियों ने कहा- आरोप साबित होने पर मंत्री पद से दे देंगे इस्तीफा

टिप्पणियां
इससे पहले मुजफ्फरपुर बालिका गृह में रही 44 लड़कियों में 42 की मेडिकल जांच कराए जाने पर उनमें से 29 के यौन शोषण की पुष्टि हुई थी. दो लड़कियों के बीमार होने के कारण उनकी जांच नहीं हो पायी है. मुजफ्फरपुर बालिका गृह के संचालक ब्रजेश ठाकुर सहित कुल 10 आरोपियों किरण कुमारी, मंजू देवी, इन्दू कुमारी, चन्दा देवी, नेहा कुमारी, हेमा मसीह, विकास कुमार एवं रवि कुमार रौशन को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है. एक अन्य फरार दिलीप कुमार वर्मा की गिरफ्तारी के लिए इश्तेहार दिए गए हैं और कुर्की की कार्रवाई की जा रही है.

VIDEO: मुजफ्फरपुर शेल्‍टर होम रेप कांड: नीतीश कुमार ने दिए CBI जांच के आदेश


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement