NDTV Khabar

एनडीए को नहीं चाहिए केंद्रीय मंत्री उपेन्द्र कुशवाहा का साथ !

केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा अगले महीने एनडीए को बाय बाय बोल देंगे. खुद उन्होंने इस बात का इशारा शनिवार को  पार्टी की एक बैठक के बाद दिया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
एनडीए को नहीं चाहिए केंद्रीय मंत्री उपेन्द्र कुशवाहा का साथ !

अमित शाह, उपेंद्र कुशवाहा और तेजस्वी यादव की फोटो.

पटना:
टिप्पणियां

केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा अगले महीने एनडीए को बाय बाय बोल देंगे. खुद उन्होंने इस बात का इशारा शनिवार को  पार्टी की एक बैठक के बाद दिया. जहां उन्होंने माना कि बार बार प्रयास के बावजूद बीजेपी अध्यक्ष उन्हें समय नहीं दे रहे हैं. इसलिए  अगर इस महीने के अंत तक उन्हें मनमाफिक सीटें नहीं मिली तो वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलेंगे और फिर इस्तीफ़ा दे सकते हैं.शनिवार को उपेंद्र कुशवाहा की ओर से बुलायी  गई इस बैठक में उनकी पार्टी के दो विधायक नदारद रहे, वहीं एक मात्र सांसद पहुंचे जरूर मगर उन्होंने साफ़ किया कि वह फ़िलहाल एनडीए का साथ नहीं छोड़ना चाहते हैं. उपेंद्र कुशवाहा अपनी पार्टी में तोड़फोड़ की कोशिशों के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को ज़िम्मेदार ठहराया.

 
उपेंद्र कुशवाहा ने BJP के सामने जो शर्तें रखीं हैं, उसमें इस महीने के अंत तक मनमुताबिक़ सीटें पाने के साथ बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की जगह सीधे पीएम मोदी से बातचीत की शर्त शामिल है. इन शर्तों को देखकर कहा जा रहा है कि अब पार्टी समर्थकों को भी इस बात का कोई भ्रम नहीं रह गया हैं कि एनडीए में वो अब कुछ दिनों के मेहमान हैं. BJP और नीतीश कुमार को इस बात का भी अंदाज़ा है कि कुशवाहा अब तेजस्वी यादव के नेतृत्व में चुनाव लड़ेंगे लेकिन उनका कहना है कि उनके इधर भी रहने से किसी को कोई फ़र्क नहीं पड़ने वाला. कुल मिलाकर बात निकलकर सामने आ रही है कि बीजेपी की अगुवाई वाला एनडीए भी उपेंद्र कुशवाहा को अब अधिक तवज्जो देने के मूड में नहीं है. 




Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... पारस छाबड़ा ने बिग बॉस 13 में सलमान खान से की बदतमीजी, भाईजान बोले- अपना मुंह बंद कर...देखें Video

Advertisement