NDTV Khabar

बिहार विधानसभा में नया शराबबंदी कानून बहुमत से पारित, तेजस्वी ने कहा- अमीरों को 'डिस्काउंट' मिल गया

बिहार विधानसभा के मानसून सत्र के दूसरे दिन सोमवार को बिहार मद्य निषेध और उत्पाद (संशोधन) विधेयक-2018 सदन में पेश किया गया, जिसे बहुमत से पारित कर दिया गया.

338 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
बिहार विधानसभा में नया शराबबंदी कानून बहुमत से पारित, तेजस्वी ने कहा- अमीरों को 'डिस्काउंट' मिल गया

तेजस्वी यादव (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. बिहार विधानसभा में नया शराबबंदी कानून बहुमत से पारित
  2. नीतीश ने कहा, निर्दोषों को बचाने के उद्देश्य से संशोधन विधेयक लाया गया है
  3. तेजस्वी ने कहा- अमीरों को 'डिस्काउंट' मिल गया
पटना:

बिहार विधानसभा के मानसून सत्र के दूसरे दिन सोमवार को बिहार मद्य निषेध और उत्पाद (संशोधन) विधेयक-2018 सदन में पेश किया गया, जिसे बहुमत से पारित कर दिया गया. विपक्षी सदस्य हालांकि कानून में बदलाव का विरोध करते हुए सदन से बहिर्गमन कर गए. कानून में संशोधन को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सदन को बताया कि निर्दोषों को बचाने के उद्देश्य से संशोधन विधेयक लाया गया है. उन्होंने कहा कि इस कानून के दुरुपयोग को रोकने पर सरकार का जोर है. निर्दोष लोगों को बचाने के लिए इसमें संशोधन किया गया है. 

यह भी पढ़ें: राहुल के आंख मारने पर तेजस्वी बोले, ‘निशाना सही जगह लगाया, जहां दुखे वहीं प्रहार करो’

उन्होंने कहा, "संशोधन का मतलब यह नहीं कि पीने वाले बख्शे जाएंगे, शराब पीकर उपद्रव करने पर कड़ी कार्रवाई होगी." सरकार का पक्ष रखते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि कानून को तार्किक बनाते हुए और लोगों की परेशानी को देखते हुए संशोधन का निर्णय लिया गया है. उन्होंने कहा कि इसके लिए आम लोगों से भी राय ली गई है. मुख्यमंत्री ने कहा कि जनहित को देखते हुए शराबबंदी का फैसला लिया गया, जिसे सभी दलों का समर्थन प्राप्त हुआ है. शराबबंदी का सबसे ज्यादा लाभ दलितों, गरीबों, अनुसूचित जाति-जनजाति और हाशिए पर चले गए लोगों को हुआ है. 


यह भी पढ़ें: कभी दहाड़ते थे, अब किस CD व फाइल के डर से दबी जुबान में नीतीश चाचा कर रहे हैं विशेष दर्जे की मांग: तेजस्वी यादव

विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी प्रसाद यादव ने कहा कि सरकार ने संशोधन के नाम पर अमीरों को 'डिस्काउंट' दे दिया है. उन्होंने कहा कि अमीर लोग 50 हजार रुपये जुर्माना देने के बजाय अब पांच हजार रुपये में शराब हासिल करेंगे. उन्होंने सवालिया लहजे में कहा कि आखिर बिहार में शराब आती कैसे है? तेजस्वी ने कहा, "शराबबंदी के बाद राज्य के लोग शराब के साथ पकड़े गए हैं. यह बिहार सरकार की जिम्मेदारी है कि राज्य की सीमाओं पर भी सुरक्षा बढ़ाई जाए, साथ ही उन फैक्ट्रियों पर भी लगाम लगे जहां से शराब राज्य में आ रही है." 

टिप्पणियां

VIDEO : मिशन 2019: तेजस्वी ने पूछा सवाल, क्या अब सब DNA ठीक हो गया?
बिहार में दो वर्ष से शराबबंदी लागू है. विपक्ष के नेताओं का आरोप था कि शराबबंदी के नाम पर दलितों और पिछड़ों को गिरफ्तार कर उन्हें प्रताड़ित किया जा रहा है. इसके बाद सरकार ने इस कानून में संशोधन के संकेत दिए थे. संशोधन के तहत इस कानून में कई कड़े प्रावधानों को कमजोर किया गया है.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement