NDTV Khabar

बिहार: भारत बंद के दौरान वैशाली में नवजात ने सड़क पर तोड़ा दम, एंबुलेंस को नहीं मिला रास्ता

महनार प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में सोमवार को ही जन्मे बच्चे की तबियत बिगड़ने पर उसे हाजीपुर सदर अस्पताल रेफर किया गया था.

578 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
बिहार: भारत बंद के दौरान वैशाली में नवजात ने सड़क पर तोड़ा दम, एंबुलेंस को नहीं मिला रास्ता

नवजात को समय पर अस्‍पताल नहीं ले जाया जा सका

पटना: भारत बंद के दौरान बिहार के वैशाली जिले में एक नवजात की जाम में फंसकर मौत हो गई, वो भी महादलित बच्चे की. दरअसल बच्चे का जन्‍म मुस्लिम समुदाय की धुनिया जाति में हुआ था जो कि मुस्लिम महादलित में आता है. महनार प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में सोमवार को ही जन्मे बच्चे की तबियत बिगड़ने पर उसे हाजीपुर सदर अस्पताल रेफर किया गया था. पहले तो किसी तरह प्राइवेट एम्बुलेंस मिला क्योकि पिछले बंद में बंद कराने वाले लोगों ने एम्बुलेंस को भी आग के हवाले कर दिया था. जब एंबुलेंस किसी तरह बच्चे को लेकर चली भी तो बंद के कारण उसे जगह-जगह रोका गया, हर चौक चौराहे पर लोग टायर जलाकर लोग सभी गाड़ि‍यों को रोक रहे थे. कई जगह तो लोगों ने एम्बुलेंस पर लाठियां भी चलाईं.

महनार से हाजीपुर सदर अस्पताल जिस एम्बुलेंस को महज एक घंटे से भी कम समय में पहुंचना चाहिए था वो लगभग ढाई घंटे में पहुंचा, लेकिन जब सदर अस्पताल के डॉक्टर ने बच्चे को देखा तब तक उसकी मौत हो चुकी थी. एक नवजात बच्चे की मौत महज बंद के दौरान जाम की वजह से हो गई.

टिप्पणियां
लेकिन भारत बंद की बेदी पर नवजात की बलि चढ़ गई. महाजाम की वजह से रास्ते में ही बच्चे ने दम तोड़ दिया जिसके बाद परिजनों ने एम्बुलेंस में ही अपना आपा खो दिया. बड़ा सवाल यह है कि यह कहां का न्याय है कि लोग अपनी मांगों के समर्थन में या विरोध के लिए सड़क पर उतर आते हैं जिससे आम जन को कीमत चुकानी पड़ती है.

VIDEO: भारत बंद : पंजाब, राजस्‍थान, झारखंड, उत्‍तर-प्रदेश और मध्‍यप्रदेश में हिंसा


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement