NDTV Khabar

शराबबंदी वाले बिहार में अब खैनी पर भी लगेगा प्रतिबंध ? स्वास्थ्य मंत्री ने किया खंडन

बिहार में पूर्ण शराबबंदी के बाद नीतीश सरकार अब 'खैनी' (अप्रसंस्कृत तंबाकू) पर प्रतिबंध लगाने पर विचार कर रही है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
शराबबंदी वाले बिहार में अब खैनी पर भी लगेगा प्रतिबंध ? स्वास्थ्य मंत्री ने किया खंडन

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार. (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. बिहार में अभी पूर्ण शराबबंदी लागू है
  2. खैनी पर प्रतिबंध पर विचार हो रहा है
  3. पान मसाला और गुटखा भी प्रतिबंधित है
पटना: बिहार में पूर्ण शराबबंदी के बाद नीतीश सरकार अब 'खैनी' (अप्रसंस्कृत तंबाकू) पर प्रतिबंध लगाने पर विचार कर रही है. स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने बताया कि कई बीमारियों के लिए जिम्मेदार 'खैनी' पर प्रतिबंध लगाने के लिए हस्तक्षेप करने के लिए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय को पत्र लिखा गया है.उन्होंने कहा कि पान मसाला और गुटखा पहले से ही राज्य में प्रतिबंधित है और राज्य में हर पांचवें व्यक्ति के खैनी का आदी होने के मद्देनजर इस पर भी प्रहार किए जाने की जरूरत है.

इन सबके बीच बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने ऐसी खबरों का पूरी तरह से खंडन किया है. उनहोंने स्पष्ट किया कि राज्य में खेली को प्रतिबंधित करने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने केंद्र सरकार को कोई पत्र नहीं भेजा है.

यह भी पढ़ें : बिहार में बदलेगा शराबबंदी कानून, नीतीश कुमार ने की घोषणा

हालांकि बिहार में तंबाकू की खपत में पिछले एक दशक में गिरावट आई है. विश्व स्वास्थ्य संगठन के ग्लोबल 'एडल्ट टोबैको सर्वे 2016-17' के अनुसार इस प्रदेश की कुल जनसंख्या का लगभग 20 प्रतिशत खैनी का इस्तेमाल करते हैं. नीतीश सरकार के खैनी पर प्रतिबंध लगाने के विचार की कुछ विपक्षी नेताओं ने आलोचना की है. विपक्षी पार्टियों ने आरोप लगाया है कि इस तरह के प्रतिबंध को लागू करने से तंबाकू व्यापार में लगे हजारों लोगों को रोजगार से वंचित कर दिया जाएगा.

VIDEO : बिहार में शराबबंदी कानून में संशोधन होगा


टिप्पणियां
हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (हम) सेक्युलर के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अपनी सरकार की विफलता से लोगों का ध्यान हटाने के लिए इस तरह की 'नौटंकी' कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि तंबाकू की खेती लाखों लोगों को आजीविका प्रदान करती है तो क्या ऐसे में नीतीश कुमार सरकार में वास्तव में खैनी पर प्रतिबंध लगाने का साहस है? 

(इनपुट : भाषा)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement