नीतीश कुमार ने माना, बाढ़ से जूझ रहे बिहार को और मदद की दरकरार

बाढ़ से जूझ रही बिहार सरकार को केंद्र से और मदद की दरकार है. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार को विधान सभा में माना कि केंद्र सरकार से और सहयोग चाहते हैं. हालांकि उन्होंने ये भी कहा कि अपनी और से निरंतर काम लेते रहेंगे.

नीतीश कुमार ने माना, बाढ़ से जूझ रहे बिहार को और मदद की दरकरार

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (फाइल फोटो)

पटना:

बाढ़ से जूझ रही बिहार सरकार को केंद्र से और मदद की दरकार है. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार को विधान सभा में माना कि केंद्र सरकार से और सहयोग चाहते हैं. हालांकि उन्होंने ये भी कहा कि अपनी और से निरंतर काम लेते रहेंगे. नीतीश कुमार , आरजेडी के वरिष्ठ नेता अब्दुल बारी सिद्दीक़ी के सवाल का जवाब दे रहे थे कि आख़िर केंद्र के तरफ़ से कोई बिहार के बाढ़ के बारे में सुध ली गयी है या नहीं. उनका कहना था कि क्या अभी तक कोई केंद्रीय मंत्री या केंद्रीय दल राज्य में बाढ़ का जायज़ा लेने आया है. उनके अनुसार बाढ़ प्रभावित इलाक़े में अभी तक बिहार के किसी केंद्रीय मंत्री को भी नहीं देखा गया है. इस पर नीतीश कुमार का कहना था कि केंद्र को बाढ़ से हुए नुक़सान के बारे में विस्तृत मेमोरैंडम भेजा जा रहा है. उसके बाद केंद्रीय टीम प्रभावित इलाक़ों का दौरा करेगी. लेकिन अभी तक उन्होंने एनडीआरएफ़ की अतिरिक्त टीम और सेना के हेलीकॉप्टर की जो भी मांग की है उसे राज्य सरकार को उपलब्ध कराया गया है. हालांकि उन्होंने कहा कि बाढ़ के कुछ दौर और आने वाले हैं इसलिए अभी बहुत सावधानी से रहना होगा.  

लेकिन इस जवाब के दौरान नीतीश कुमार का केंद्र द्वारा दो वर्ष पूर्व केवल नगद 2400 करोड़ क़रीब 38 लाख परिवार के बीच वितरित किए जाने के बावजूद केंद्र द्वारा मात्र 16, सौ करोड़ किए जाने का मामला भी उठ गया जब उन्होंने कहा कि की इतनी बड़ी राशि वितरित करने के बावजूद केंद्र सरकार अपने मापदंड से सरकार को सहायता देती है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com