चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर को मिली JDU में नंबर 2 की कुर्सी, बनाए गए राष्ट्रीय उपाध्यक्ष

चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) को जनता दल यूनाइटेड (जदयू) के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार ने पार्टी का राष्ट्रीय उपाध्यक्ष नियुक्त किया है.

चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर को मिली JDU में नंबर 2 की कुर्सी, बनाए गए राष्ट्रीय उपाध्यक्ष

प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) को जनता दल यूनाइटेड (जदयू) ने राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनाया है.

पटना:

चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) को जनता दल यूनाइटेड (जदयू) के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार ने पार्टी का राष्ट्रीय उपाध्यक्ष नियुक्त किया है. प्रशांत किशोर ने पिछले महीने ही जदयू की सदस्यता ग्रहण की थी. जदयू में राष्ट्रीय उपाध्यक्ष का कभी पद नहीं रहा लेकिन माना जा रहा है कि नीतीश कुमार ने किशोर से इस पद और उनके काम के बारे में पहले चर्चा कर ली थी, जिसे अब सार्वजनिक किया गया है. केसी त्यागी ने कहा कि प्रशांत अब पार्टी में पद मिलने के बाद नई ज़िम्मेदारी निभाएंगे. दूसरी तरफ, कहा जा रहा है कि नीतीश कुमार के इस फैसले के बाद पार्टी के कई नेता मायूस हैं, लेकिन सार्वजनिक तौर पर कोई कुछ बोल नहीं रहा है. इसके पीछे वजह यह है कि नीतीश ने पार्टी के अधिकांश नेताओं से पहले ही कई दौर में प्रशांत किशोर की जिम्मेदारियों को लेकर चर्चा की थी.  

यह भी पढ़ें : चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर की राजनीति में एंट्री, नीतीश कुमार की मौजूदगी में JDU में हुए शामिल

लेकिन जानकार मानते हैं कि प्रशांत के लिए पद पाना जितना आसान था अब अपने आप को साबित करना उससे कहीं ज्यादा कठिन. उनकी सबसे बड़ी परीक्षा अगले लोकसभा चुनाव में होगी. जहां न केवल भाजपा के साथ सामंजस्य बैठाना चुनौती होगी. बल्कि नीतीश को उम्मीद होगी कि ज्यादा से ज्यादा सीटों पर जीत मिले और 'स्ट्राइक रेट' सुधरे. दूसरी तरफ, प्रशांत किशोर को भी इस बात का अंदाजा है कि अगर परिणाम बीस से उन्नीस हुए तो ठीकरा उनके सर फोड़ा जाएगा. वहीं, अब नीतीश कुमार की कोशिश होगी कि भले ही पार्टी के कुछ नेताओं में उनके इस निर्णय को लेकर थोड़ा नाराज़गी हो लेकिन पार्टी को और मज़बूत व आक्रामक बनाना प्राथमिकता होगी. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

यह भी पढ़ें : चुनावी रणनीतिकार से राजनेता तक का सफर, प्रशांत किशोर से जुड़ी 10 खास बातें