NDTV Khabar

नीतीश ने आख़िरकार बाढ़ राहत पर मुंह खोला, कहा - केंद्र द्वारा दी गयी राशि उचित नहीं है

नीतीश ने सोमवार को इस मुद्दे पर बोलते हुए कहा कि फ़िलहाल केंद्र द्वारा जो 1700 करोड़ की राशि दी गयी वो उचित नहीं है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
नीतीश ने आख़िरकार बाढ़ राहत पर मुंह खोला, कहा - केंद्र द्वारा दी गयी राशि उचित नहीं है

बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार (फाइल फोटो)

पटना: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और वित्त मंत्री अरुण जेटली से उम्मीद है कि वो पिछले साल बाढ़ राहत के लिए केंद्र द्वारा दी गयी राशि पर कोई निर्णय लेंगे. नीतीश ने सोमवार को इस मुद्दे पर बोलते हुए कहा कि फ़िलहाल केंद्र द्वारा जो 1700 करोड़ की राशि दी गयी वो उचित नहीं है. नीतीश ने कहा कि जब उन्हें बाढ़ राहत के मद में मंत्रीमंडल समिति द्वारा निर्धारित राशि के विषय में पता चला तब उन्होंने इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाक़ात कर बातचीत की. उन्‍होंने कहा कि केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली को भी इस विषय में अवगत करा दिया गया था.

बिहार सरकार ने पिछले साल बाढ़ के बाद केंद्र से 7300 करोड़ रुपये के मुआवजे की मांग की थी. नीतीश के अनुसार अधिकारियों की जिस टीम ने हालात का जायज़ा लिया था उसने राज्य को 1700 करोड़ से अधिक की राशि देने की अनुशंसा की जिसे केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने नामंज़ूर कर दिया. लेकिन नीतीश ने कहा कि अब उच्चतम स्तर पर उन्होंने सबके संज्ञान में बातों को ला दिया है और उम्मीद करते हैं कि जल्द इस सम्बंध में निर्णय होगा.

टिप्पणियां
लेकिन फ़सल बीमा योजना के बदले किसान सहायता स्कीम लाने वाले नीतीश ने कहा कि ये कोई केंद्र की योजना को नकारना नहीं है बल्कि राज्य के हित में राज्य की योजना है. उन्होंने कहा कि बिहार ने अपना प्रयोग शुरू किया है. इसका मुख्य बिंदु यही है कि बीमा कंपनियों की जगह सरकारी एजेंसियों के माध्यम से काम किया जा रहा है.

VIDEO: प्रधानमंत्री फसल योजना देशभर के लिए: नीतीश


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement