NDTV Khabar

तेजस्वी यादव ने भेजी ऐसी चिट्ठी कि दुविधा में पड़ गए नीतीश कुमार, आखिर क्या है माजरा

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इन दिनों पसोपेश में हैं. उनकी इस दुविधा का कारण है पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव का एक खत.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
तेजस्वी यादव ने भेजी ऐसी चिट्ठी कि दुविधा में पड़ गए नीतीश कुमार, आखिर क्या है माजरा

तेजस्वी यादव की फाइल तस्वीर

खास बातें

  1. तेजस्वी का बंगला सुशील मोदी को किया गया है आवंटित
  2. नीतीश से तेजस्वी ने इसी बंगले में उन्हें रहने देने का आग्रह किया है
  3. सुशील मोदी बोले, तेजस्वी की यह जिद बचकानी है
पटना:

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इन दिनों पसोपेश में हैं. उनकी इस दुविधा का कारण है पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव का एक खत. तेजस्वी ने पहली बार नीतीश को एक पत्र भेजा है. लेकिन इस पत्र में किए गए आग्रह को लेकर नीतीश को अब ये तय करना होगा कि उनके लिए प्रिय सुशील मोदी हैं या तेजस्वी यादव. दरअसल बिहार में नीतीश कुमार के बीजेपी से हाथ मिलाने के बाद नई सरकार के मंत्रियों को घर आवंटित किए गए हैं. तेजस्वी यादव का मौजूदा निवास 5, सर्कुलर रोड अब उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी को आवंटित किया गया है. तेजस्वी ने राज्य के उप मुख्यमंत्री और भवन निर्माण मंत्री रहने के दौरान इस मकान के रखरखाव और इसकी साज-सज्जा पर काफी बड़ी रकम खर्च की. उन्हें शायद सरकार और खासकर यह मकान हाथ से जाने का अंदाजा नहीं था.

यह भी पढ़ें: गजब हैं सुशील मोदी, घोटालों मे फंसते हैं तो परिवार को भी नकार देते हैं : तेजस्वी


टिप्पणियां

तेजस्वी ने अपनी चिट्ठी में नीतीश कुमार से आग्रह किया है कि फिलहाल उन्हें इस बंगले में रहने दिया जाए. यह बंगला मुख्यमंत्री के सरकारी आवास 1, अणे मार्ग से बिल्कुल सटा है और लालू यादव तथा राबड़ी देवी के बंगले के ठीक सामने है. तेजस्वी ने ये तर्क दिया है कि सुशील मोदी को जो बंगला उन्हें उप मुख्यमंत्री के रूप में आवंटित किया गया था, उन्हें उसी घर में विपक्ष का नेता बनने के बाद भी रहने दिया गया. लेकिन राज्य के भवन निर्माण विभाग का कहना हैं कि तेजस्वी यादव की मांग अगर नीतीश मान लेते हैं, तब हर पूर्व मंत्री अपने बंगले में रहने के लिए यही तर्क देगा.

VIDEO : लालू बोले, भाजपा के साथ नीतीश को भी भगाएंगे
वहीं वर्तमान उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी का कहना है कि जिस तेजस्वी यादव के पास एक दर्जन से ज्यादा भूखंड, बने हुए घर और एक दर्जन से ज्यादा फ्लैट हों, ऐसे में एक खास बंगले में रहने की उनकी जिद बचकानी है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement