NDTV Khabar

बाढ़ प्रभावित इलाके में निरीक्षण के दौरान पूछे गए सवाल पर भड़के सीएम नीतीश कुमार , कहा - बताइये! अमेरिका में क्या हुआ? 

सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि मैं बस आप लोगों से इतना पूछना चाहता हूं कि कि देश के साथ-साथ विश्व के किन-किन हिस्सों में बाढ़ आई थी? क्या पटना के कुछ इलाकों में बारिश के बाद जमा पानी ही हमारे लिए अकेली और सबसे बड़ी समस्या है?

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बाढ़ प्रभावित इलाके में निरीक्षण के दौरान पूछे गए सवाल पर भड़के सीएम नीतीश कुमार , कहा - बताइये! अमेरिका में क्या हुआ? 

नीतीश कुमार ने बाढ़ प्रभावित इलाके का किया निरीक्षण

खास बातें

  1. पटना में बाढ़ प्रभावित इलाके निरीक्षण कर रहे थे नीतीश कुमार
  2. स्थानीय लोगों ने भी सीएम से किए सवाल
  3. पटना में रुकी आफत की बारिश
नई दिल्ली:

बिहार में आफत की बारिश भले ही रुक गई हो लेकिन लोगों की समस्या खत्म होने का नाम नहीं ले रही है. बारिश के बाद अब पटना और अन्य प्रभावित जिलों में लोगों के लिए जलजमाव एक बड़ी चुनौती की तरह है. मंगलवार रात सूबे के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पटना में प्रभावित इलाकों का दौरा किया. हालांकि, इस दौरान जब उनसे जलजमाव की वजह से हो रही दिक्कतों को लेकर आम लोगों सवाल किया तो वह भड़क गए. उन्होंने कहा कि बारिश अकेले सिर्फ आपके यहां ही नहीं हुई है. बताइये! अमेरिका में बारिश के बाद क्या हुआ था. 

बिहार में बाढ़ की स्थिति को लेकर कांग्रेस ने राज्य सरकार पर निशाना साधा

सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि मैं बस आप लोगों से इतना पूछना चाहता हूं कि कि देश के साथ-साथ विश्व के किन-किन हिस्सों में बाढ़ आई थी? क्या पटना के कुछ इलाकों में बारिश के बाद जमा पानी ही हमारे लिए अकेली और सबसे बड़ी समस्या है? अमेरिका में क्या हुआ? बाढ़ को प्राकृतिक आपदा बताते हुए, नीतीश कुमार ने कहा कि भारी बारिश और सूखा पड़ना एक आम बात है. राहत और बचाव का कार्य जारी है. पंप की मदद से बाढ़ का पानी जल्दी बाहर निकालने की हर संभव कोशिश की जा रही है.


पटना में आई बाढ़ तो गिरिराज सिंह ने एक बार फिर सहयोगी नीतीश कुमार पर बोला हमला, दिया यह बयान

गौरतलब है कि राज्य के अलग-अलग जिलों में हुई बीते कुछ दिनों में हुई मुसलाधार बारिश की वजह से मौत का आंकड़ा 42 हो गया है, जबकि नौ लोग गंभीर रूप से घायल हो गए. सीएम नीतीश कुमार ने बाढ़ के बाद बने हालात का मंगलवार रात को निरीक्षण किया. बता दें कि भारी बारिश से मरने वाले 42 लोगों में भागलपुर में दस, गया में छह, पटना एवं कैमूर में चार-चार, खगड़िया एवं भोजपुर में तीन-तीन, बेगूसराय, नालंदा एवं नवादा में दो-दो, पूर्णिया, जमुई, अरवल, बांका, सीतामढी और कटिहार में एक-एक व्यक्ति शामिल हैं. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंगलवार को इलाके का निरीक्षण के बाद अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये.

बिहार बाढ़: बचाव और राहत कार्यों के लिए NDRF की टीम, वायु सेना के हेलीकॉप्टर तैनात

पटना के एक अणे मार्ग स्थित अपने सरकारी आवास से गांधी मैदान होते हुये नीतीश ने मंगलवार को शहर के जलजमाव वाले क्षेत्रों का मुआयना किया. मुख्यमंत्री ने श्रीकृष्ण मेमोरियल हॉल में चलाये जा रहे आपदा राहत बचाव कार्य के लिये राहत सामग्री आपूर्ति, भंडारण, पैकेटिंग एवं निर्गत केन्द्र का भी जायजा लिया. उन्होंने इसके पश्चात सैदपुर के जलजमाव वाले क्षेत्रों का जायजा लिया और अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये. निरीक्षण के बाद मुख्यमंत्री ने जलभराव से प्रभावित क्षेत्रों के लोगों से मुलाकात कर उनकी समस्याएं सुनी व उनके निदान के लिए अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये. मुख्यमंत्री ने जल निकासी के कार्य में तेजी लाने का निर्देश दिया. उधर, बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने सचिवालय स्थित अपने कार्यालय कक्ष में मंत्रियों, स्थानीय विधायकों व पटना नगर निगम, बुडको तथा नगर विकास विभाग के आला अधिकारियों के साथ उच्चस्तरीय बैठक कर जलमग्न इलाकों में उच्च क्षमता के पम्प लगा कर जमे हुए पानी में अगले 48 घंटे में निकालने का निर्देश दिया.

VIDEO: पटना में रुकी आफत की बारिश.

टिप्पणियां



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement