NDTV Khabar

जानें नीतीश कुमार क्यों बोले, 2019 के लोकसभा चुनावों के साथ बिहार विधानसभा चुनाव नहीं होंगे

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि 2019 के लोकसभा चुनाव के साथ बिहार विधानसभा चुनाव कराने का कोई विचार नहीं है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
जानें नीतीश कुमार क्यों बोले, 2019 के लोकसभा चुनावों के साथ बिहार विधानसभा चुनाव नहीं होंगे

नीतीश कुमार और पीएम नरेंद्र मोदी

खास बातें

  1. एक साथ चुनाव का समर्थन किया
  2. 2019 के चुनावों के साथ बिहार चुनाव की बात से इनकार
  3. ऐसे चुनाव कराने लिए संविधान में संशोधन करना होगा
पटना: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि 2019 के लोकसभा चुनाव के साथ बिहार विधानसभा चुनाव कराने का कोई विचार नहीं है. नीतीश ने सोमवार को एक साथ लोकसभा और विधानसभा चुनाव करने का नीतिगत समर्थन करते हुए कहा कि उनके अनुसार नगर निकाय और पंचायतों के चुनाव भी एक साथ होने चाहिए, हालांकि उनका कहना था कि इसके लिए संविधान संशोधन करना पड़ेगा.

जानें कुछ सहयोगियों के तेवरों से परेशान पीएम नरेंद्र मोदी को नीतीश कुमार दे रहे हैं क्या खुशी

नीतीश का कहना है कि हर चुनाव अलग-अलग होने से राज्यों के विकास पर प्रतिकूल असर पड़ता है. उन्होंने कहा कि हर साल होने वाले चुनावों से अधिकारियों का ध्यान भी चुनावी कार्य में व्यस्तता से उनके नियमित काम पर कम हो जाता है.

नीतीश कुमार ने नहीं सुनी तेजस्वी यादव की फरियाद, खाली करना होगा बंगला

इसके अलावा चुनाव आचारसंहिता के कारण सारे विकास के काम ठप पड़ जाते हैं, लेकिन नीतीश ने कहा कि उनके समर्थन का यह मतलब नहीं लगाया जाना चाहिए कि बिहार में आने वाले लोकसभा के साथ चुनाव कराए जाएंगे. इस संबंध में सारी अटकलों को खारिज करते हुए उन्होंने कहा कि फिलहाल ऐसा कोई प्रस्ताव नहीं है.

इससे पूर्व पार्टी की बिहार इकाई के अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने इस मुद्दे पर केंद्र सरकार का समर्थन किया था. उन्होंने लगा था कि जो भी संशोधन केंद्र सरकार लाएगी पार्टी उसका खुलकर समर्थन करेगी, लेकिन आज नीतीश ने यह भी कहा कि इस मुद्दे पर पूरे देश में बहस भी कराई जानी चाहिए.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement