NDTV Khabar

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बोले - सरकारी खजाने पर बाढ़ पीड़ितों का पहला हक

मुख्यमंत्री ने हांसा में चल रहे बाढ़ राहत सामग्री केंद्र में बाढ़ पीड़ित लेागों के लिए बनाए जा रहे फूड पैकेटों में डाली जा रही सभी सामग्रियों का निरीक्षण किया. मुख्यमंत्री ने फूड पैकेटों में डाली जा रही सामग्रियों का वजन भी देखा. 

1Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बोले - सरकारी खजाने पर बाढ़ पीड़ितों का पहला हक

बाढ़ प्रभावित इलाके का दौरा करते नीतीश कुमार.

पटना: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बुधवार को अररिया जिला प्रशासन द्वारा कृषि बाजार समिति (अररिया) के प्रांगण में चलाए जा रहे फूड पैकेटिंग केंद्र तथा रानीगंज प्रखंड के हांसा पंचायत में चल रहे सामुदायिक किचेन एवं बाढ़ राहत सामग्री केंद्र का निरीक्षण किया और वरीय अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए. मुख्यमंत्री ने हांसा में चल रहे बाढ़ राहत सामग्री केंद्र में बाढ़ पीड़ित लेागों के लिए बनाए जा रहे फूड पैकेटों में डाली जा रही सभी सामग्रियों का निरीक्षण किया. मुख्यमंत्री ने फूड पैकेटों में डाली जा रही सामग्रियों का वजन भी देखा. 

मुख्यमंत्री ने बाढ़ पीड़ित बच्चों के बीच स्वयं बिस्किट का वितरण किया तथा अन्य बाढ़ पीड़ितों के बीच भी राहत सामग्रियों का स्वयं वितरण किया. 

इस अवसर पर उन्होंने बाढ़ पीड़ितों को संबोधित करते हुए कहा कि सरकारी खजाने पर बाढ़ पीड़ितों का पहला अधिकार है. उन्होंने कहा कि अभी जो भी राहत सामग्री मिल रही है, वह अंत नहीं है, बल्कि लोगों के क्षति का आकलन कर उन्हें सामान के लिए, घर के लिए एवं फसल नुकसान के लिए भी राशि उपलब्ध कराई जाएगी. उन्होंने कहा कि बाढ़ पीड़ितों को हरसंभव सहायता पहुंचाई जाएगी. 
VIDEO: शरद यादव को नीतीश कुमार की चुनौती

इस अवसर पर मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह, प्रधान सचिव (आपदा प्रबंधन) प्रत्यय अमृत, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव चंचल कुमार, पूर्णिया प्रमंडल के आयुक्त टी.एन. बिंध्येश्वरी, अररिया के जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक सहित अन्य वरीय अधिकारी उपस्थित थे. 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement