NDTV Khabar

इस देश में किसी की हिम्मत नहीं है कि आरक्षण खत्म कर दे: नीतीश कुमार

नीतीश ने कहा कि पिछड़े जातियों या दलितों के लिए जो प्रावधान हैं, उसके साथ कोई छेड़छाड़ नहीं कर सकता.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
इस देश में किसी की हिम्मत नहीं है कि आरक्षण खत्म कर दे: नीतीश कुमार

बिहार के सीएम नीतीश कुमार (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. आरक्षण पर नीतीश कुमार ने दी प्रतिक्रिया
  2. उन्होंने कहा कि इस देश में किसी की हिम्मत नहीं है कि आरक्षण खत्म कर दे
  3. पार्टी के कार्यक्रम में उन्होंने यह बात कही
पटना:

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज कहा कि इस देश में किसी की हिम्मत नहीं है कि आरक्षण खत्म कर दे. नीतीश ने कहा कि पिछड़े जातियों या दलितों के लिए जो प्रावधान हैं, उसके साथ कोई छेड़छाड़ नहीं कर सकता. दरअसल, नीतीश आज एक कार्यक्रम में तेजस्वी यादव के हाल ही में दिए गए बयानों का जवाब दे रहे थे. हालांकि, उन्होंने तेजस्वी यादव का एक बार भी नाम नहीं लिया. नीतीश के निशाने पर आज तेजस्वी से ज्यादा उनके पिता लालू यादव रहे. 

यह भी पढ़ें: बिहार: राम विलास पासवान को मनाने पहुंचे धर्मेंद्र प्रधान और भूपेंद्र यादव

इस मौके पर उन्होंने कहा कि जब मंडल आयोग की रिपोर्ट पूरे देश में लागू किया गया, तो बिहार में भी इसे लागू कराने का प्रयास किया गया, जबकि यहां कर्पूरी ठाकुर फॉर्मूला पर आधारित आरक्षण का प्रावधान था. अति पिछड़ी जातियों के लिये इस फॉर्मूले में अधिक प्रावधान किया गया था, लेकिन मंडल आयोग के आधारित व्यवस्था होने पर उनके हिस्से में कटौती हुई. नीतीश ने कहा उन्होंने इसका विरोध किया. 

यह भी पढ़ें: केंद्रीय मंत्रियों की बयानबाजी से नाराज नीतीश कुमार ने कहा- सांप्रदायिक टिप्पणियां स्वीकार नहीं 


टिप्पणियां

नीतीश ने लालू पर निशाना साधते हुए पूछा कि जब लालू-राबड़ी सरकार थी, तब पंचायत में अति पिछड़ी जातियों के लिए ये व्यवस्थाएं क्यों नहीं लागू की गयी. उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने 2006 में ना केवल 20 प्रतिशत अति पिछड़ी जातियों के लिये आरक्षण का प्रावधान किया, बल्कि महिलाओं के लिए 50 प्रतिशत आरक्षण किया गया. 

VIDEO: तेजस्वी यादव का गंभीर आरोप, 'मेरे खाने में जहर मिलाने की कोशिश हुई'


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement