NDTV Khabar

पटना संग्रहालय का होगा विस्तार और राहुल सांकृत्यान की पाण्डुलिपियों का डिजिटलाइजेशन

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि राहुल सांकृत्यायन की पाण्डुलिपियों का हिन्दी और अंग्रेजी में अनुवाद कराना चाहिये ताकि लोग जान सकें कि ये क्या है.

10 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
पटना संग्रहालय का होगा विस्तार और राहुल सांकृत्यान की पाण्डुलिपियों का डिजिटलाइजेशन

नीतीश कुमार बिहार की ऐतिहासिक धरोहरों को सुरक्षा देने के लिए योजना बना रहे हैं (फाइल फोटो)

पटना: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पटना संग्रहालय की अधिकांश दीर्घाओं का अवलोकन किया. उन्होंने संग्रहालय में लगभग तीन घंटे बिताये और संग्रहालय के बाहरी हिस्से के चारों तरफ जाकर निरीक्षण किया.

संग्रहालय का निरीक्षण करने के बाद नीतीश ने कहा कि जो पटना संग्रहालय के बहुत सारी प्राचीन चीजें हैं, जो जगह की कमी के कारण ठीक ढ़ंग से प्रदर्शित नहीं की जा रही हैं. उसमें बहुत सारी चीजें जगह मिलने से और ज्यादा बढ़िया ढ़ंग से प्रदर्शित की जा सकती हैं इसलिए पटना संग्रहालय को विस्तार देना है.

नीतीश ने कहा कि वे विचार करेंगे कि इसका जो स्वरूप है, उसको कायम रखते हुये इसके तीन तरफ और ढ़ांचा बनाया जाए ताकि उसमें सब कुछ आधुनिक तरीके से दिखलाया जा सके. उन्होंने कहा कि सारनाथ में एक यूनिवर्सिटी है, उनके साथ हम लोगों की चर्चा हुई है कि जो तिब्बत से लाए हुए राहुल सांकृत्यायन की पाण्डुलिपियां हैं, उनका डिजिटलाइजेशन किया जा सकता है. उन्होंने कहा कि उन पाण्डुलिपियों का हिन्दी और अंग्रेजी दो भाषाओं में अनुवाद कराना चाहिये ताकि लोग जान सकें कि ये क्या है. उन्होंने कहा कि राहुल सांकृत्यायन जी की पाण्डुलिपियों का डिसप्ले होना है, उसके लिये अब यहां जगह मिल गई है.

टिप्पणियां
मुख्यमंत्री ने पटना संग्रहालय के निरीक्षण के दौरान टेराकोटा आर्ट गैलरी, बुद्ध अस्थि कलश दीर्घा, धातु कला दीर्घा, राहुल सांकृत्यायन संग्रह दीर्घा, सज्जा कला एवं अस्त्र-शस्त्र दीर्घा, चित्रकला दीर्घा, पाटलिपुत्र दीर्घा, डा राजेन्द्र संग्रह दीर्घा समेत अन्य दीर्घाओं का भी अवलोकन किया और सौंदर्यीकरण के संबंध में निर्देश दिए.

(इनपुट भाषा से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement