NDTV Khabar

नीतीश कुमार बोले, बिहार में शराबबंदी लागू हो सकती है तो पूरे देश में क्यों नहीं, RJD ने कहा- पहले यूपी-झारखंड में लागू कराएं

दिल्ली की यह रैली जो बीजेपी के साथ तालमेल के बाद नीतीश कुमार का बिहार के बाहर पहला कोई बड़ा राजैनतिक कार्यक्रम था.

809 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
नीतीश कुमार बोले, बिहार में शराबबंदी लागू हो सकती है तो पूरे देश में क्यों नहीं, RJD ने कहा- पहले यूपी-झारखंड में लागू कराएं

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार

नई दिल्ली / पटना: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में आयोजित कार्यकर्ता सम्मेलन में कहा है कि शराब के सेवन को इस्लाम, जैन में गलत माना गया है, ऐसे में धर्मनिरपेक्ष दलों - जैसे कांग्रेस और वामपंथियों से पूछना चाहता हूं कि उनका इस पर क्या स्टैंड है? दिल्ली की यह रैली बीजेपी के साथ तालमेल के बाद नीतीश कुमार का बिहार के बाहर पहला कोई बड़ा राजैनतिक कार्यक्रम था. पहली बार दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में इस सभा का आयोजन पार्टी द्वारा किया गया जिसमें खासी भीड़ जुटी. शराबबंदी के लाभ गिनाते हुए नीतीश ने राष्ट्रीय क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो के ताजा आंकड़े गिनाते हुए कहा कि लॉ एंड आर्डर के लिए लोग बिहार को बदनाम करते हैं,,, देखिये पूरे देश में बिहार में क्राइम का ग्राफ नीचे जा रहा हैं और देश की राजधानी दिल्ली का भी हाल देख लीजिये.

सहयोगी होने के बावजूद केंद्रीय मंत्री राधामोहन सिंह ने मंच से की नीतीश की आलोचना

टिप्पणियां
दिल्ली में आंदोलन करने का ऐलान
वहीं नीतीश ने अगले साल मार्च में दिल्ली के रामलीला मैदान में एक और रैली की भी घोषणा की जिसमें वह दिल्ली में कॉलोनियों को नियमित करने की मांग करेंगे. उन्होंने कहा कि 30 लाख लोग यहां पर बहुत ही खराब हालत में रहते हैं. सीएम नीतीश ने ऐलान करते हुए कहा कि अगर बिहारी तय कर लें कि हम काम नहीं करेंगे तो दिल्ली ठप्प पड़ जाएगी. 
इसके आगे नीतीश ने विश्वास दिलाया कि बिहार में वो हर घर को नल से पानी उपलब्ध कराएंगे और 2018 के आखिरी तक हर घर में बिजली. 

वीडियो : गुजरात मेें नीतीश कुमार को विश्वास
राष्ट्रीय प्रवक्ता मनोज झा ने कहा कि नीतीश जी को इस बात के लिए बधाई कि उन्होंने धर्मनिरपेक्ष दलों  से शराबबंदी पर सवाल पूछा शयाद उन्हें  इस बात का आभास हो गया हैं कि केंद्र की बीजेपी सरकार चलाचली की बेला में आ गयी हैं.  नीतीश जी , अब राजनीतिक बेमानी पर उतर आये हैं इसलिए ऐसे सवाल कर रहे हैं क्योंकि सचाई यही है कि राजद और कांग्रेस के समर्थन से उन्होंने शराबबंदी लागू किया. लेकिन राजनीतिक जीवन में सहयोगियों के प्रति क्रेडिट देने में ईमानदारी उनके स्वभाव में शामिल नहीं है. लेकिन मेरी चुनौती हैं कि एक बार झारखण्ड और उतर प्रदेश में जहां बीजेपी की सरकारे हैं वहां पूर्ण शराबबंदी लागू करा लें फिर अन्य लोगों से सवाल करें. 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement