NDTV Khabar

अब मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार मनाएंगे सरदार पटेल की जयंती...

सरदार पटेल की जयंती को राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप में मनाए जाने का फरमान केंद्र सरकार हर साल जारी करती है लेकिन राज्य सरकार खासकर नीतीश कुमार की सरकार ने इस पर कोई आदेश नहीं देती.

543 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
अब मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार मनाएंगे सरदार पटेल की जयंती...

बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. राजद जैसे विरोधी दल इस आदेश पर नीतीश कुमार पर निशाना साध रहे हैं
  2. बिहार सरकार केंद्र के आदेश को हूबहू लगू कराने के लिए तत्पर दिख रही है
  3. 'सरदार पटेल हमारे झंडा, बैनर से लेकर नेताओं के भाषण का मुख्य अंग रहे हैं'
पटना: बिहार में गठबंधन का स्वरूप क्या बदला, किसकी जयंती और पुण्यतिथि मनाई जाएगी उसकी सूची भी फिर से बन रही है. और ये सब गठबंधन के सहयोगी के इशारे पर हो रहा है. ताजा घटना में बिहार सरकार ने सरदार पटेल की जयंती राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप में मनाने का फैसला किया है. सरदार पटेल की जयंती को राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप में मनाए जाने का फरमान केंद्र सरकार हर साल जारी करती है लेकिन राज्य सरकार खासकर नीतीश कुमार की सरकार ने इस पर कोई आदेश नहीं देती. लेकिन अब बीजेपी के साथ मिलकर सरकार चला रहे नीतीश कुमार की शायद राजनैतिक मजबूरी है कि इन जयंतियों को जोर शोर से मनाएं.

नीतीश कुमार की सरकार ने नए आदेश में सभी जिला शिक्षा पदाधिकारियों को पटेल जयंती के अवसर पर 31 अक्टूबर को एकता दौड़ आयोजित करने के अलावा एक लेख प्रतियोगिता भी आयोजित करने का आदेश दिया है. इसके अलावा सभी सरकारी विद्यालय में सरदार पटेल पर केंद्रित नाटक, गाना के अलावा पेंटिंग प्रतियोगिता और सबसे क्रिएटिव स्लोगन की भी गतिविधि कराने का निर्देश अभी से दे दिया है. निश्चित रूप से बिहार सरकार केंद्र के आदेश को अब हूबहू लगू कराने के लिए तत्पर दिख रही है.

जैसा कि उम्मीद थी, राजद जैसे विरोधी दल इस आदेश पर जमकर नीतीश कुमार पर निशाना साध रहे हैं. राजद के राष्ट्रिय प्रवक्ता मनोज झा का कहना है कि जयंती कौन सी और कैसे मनाई जाये ये राज्य सरकार के ऊपर निर्भर करता है, लेकिन जैसा बिहार सरकार का आदेश है, उससे मुझे नीतीश कुमार जी की बेबसी पर तरस आता है. कैसे जो कल तक आरएसएस मुक्त भारत की बात करते थे आज उन्हें खुश करने में लगे हैं. वहीं जनता दल यूनाइटेड के मुख्य प्रवक्ता संजय सिंह का कहना है कि लोगों को नहीं मालूम लेकिन सरदार पटेल और हमारी पार्टी इन दोनों के सम्बन्ध बहुत कम लोग जानते हैं. समता पार्टी के गठन के समय से ही सिंह के अनुसार सरदार पटेल हमारे झंडा, बैनर से लेकर नेताओं के भाषण का मुख्य अंग रहे हैं.

VIDEO: पटेल बनाम इंदिरा में बदला 31 अक्टूबर!

लेकिन फ़िलहाल इस पर विवाद और तूल पकड़ेगा. उधर बीजेपी के नेता ऐसे आदेश से उत्साहित हैं कि जिस प्रकार नीतीश कुमार गठबंधन धर्म का पालन कर रहे हैं उससे अगले साल योग दिवस पर भी सार्वजनिक रूप से प्राणायाम करते नजर आये तो कोई आश्चर्य नहीं.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement