NDTV Khabar
होम | बिहार

बिहार

  • बिहार की पिस्तौल वाली मुखिया, कोई गुंडा-मवाली पास नहीं फटकता
    बिहार में विधि व्यवस्था दुरुस्त होने का दावा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार करते हैं लेकिन अभी भी कुछ लोग ख़ासकर महिला मुखिया पिस्तौल लेकर चलती हैं.
  • बिहार स्कूल बोर्ड की क्या हालत थी किसी से छिपी नहीं, कैसे-कैसे लोग टॉप करते थे देखकर शर्म आती थी : नीतीश कुमार
    बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने माना कि अपने राज्य के फ़र्ज़ी टॉपर को मीडिया ख़ासकर TV पर देखकर उन्हें भी शर्म आती थी. नीतीश कुमार ने शिक्षक दिवस पर एक समारोह में कहा कि आज से दो साल पहले बिहार स्कूल बोर्ड की क्या हालत थी वो किसी से छिपी नहीं है. कैसे-कैसे लोग टॉप करते थे जिन्हें देखकर शर्म आती थी. नीतीश ने कहा कि अब बोर्ड को चुस्त-दुरुस्त किया गया है और अब कोई गड़बड़ी नहीं होती है. नीतीश ने बिहार में शिक्षा व्यवस्था के संदर्भ में माना कि गुणवत्ता पर ध्यान देना है. लेकिन उन्होंने कहा कि ये पूरे विश्व की समस्या है. राज्य में जितना हो सकता हैं 'उन्नयन योजना' के तहत सुधार किया जा रहा है.
  • Teachers' Day के दिन बिहार में अपनी मागों को लेकर सड़क पर उतरे शिक्षक
    बिहार के हजारों शिक्षक गुरुवार को 'शिक्षक दिवस' के दिन अपनी मांगों को लेकर सड़कों पर उतरे. उन्होंने सरकार के विरोध में नारे लगाए और 'समान काम-समान वेतन' की मांग को लेकर आवाज बुलंद की. पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार, राज्यभर के नियोजित शिक्षक गुरुवार को पटना पहुंचे और गर्दनीबाग धरनास्थल पर पहुंचकर विरोध जताया. हालांकि पटना के संजय गांधी स्टेडियम (गर्दनीबाग) को भी प्रशासन ने सील कर दिया है. इधर, शिक्षक सड़क पर उतरकर सरकार के विरोध में नारे लगा रहे हैं. 
  • NRC के मुद्दे पर बिहार में बीजेपी और जेडीयू के बीच 'वाकयुद्ध'
    बिहार में एनआरसी के मुद्दे पर सत्तारूढ़ जनता दल युनाइटेड और बीजेपी के बीच वाकयुद्ध तेज़ होता जा रहा है. जबसे असम में नेशनल रजिस्टर आफ सिटीजन की सूची आई है तब से एक ओर बीजेपी के नेता बिहार में भी बांग्लादेशी घुसपैठियां की संख्या लाखों में बताते हैं और यहां भी एनआरसी लागू करने की मांग कर रहे हैं.
  • यार्ड में खड़ी बिहार संपर्क क्रांति सुपरफास्ट एक्सप्रेस के कोच में लगी आग, कोई हताहत नहीं
    Fire in Sampark Kranti: ट्रेन के कोच संख्या एस-6 में आग लगी थी. कोच को दोनों ओर से अलग कर दिया गया था. संबंधित अधिकारी और कर्मचारी तुरंत घटनास्थल पर पहुंचे और फायर टेंडर को बुलाकर आग पर काबू पा लिया गया. ट्रेन के कोच में बुधवार रात करीब 10 बजकर 55 मिनट पर आग लगी थी. इस दौरान किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है.
  • बिहार : डॉक्टरों की अजब करतूत, हाइड्रोसील की जगह पैर का कर दिया ऑपरेशन!
    बिहार के गया के अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल कॉलेज अस्पताल में एक अजीबोगरीब मामला प्रकाश में आया है. सर्जरी विभाग में चिकित्सकों ने मरीज के हाइड्रोसील के अपेरशन की जगह दाएं पैर का ऑपेरशन कर दिया. 
  • तेजस्वी ने जेडीयू के नए नारे पर कहा- आत्मविश्वास इतना घट गया कि ‘ठीके तो है‘ पर आ गए
    जनता दल यूनाइटेड के लिए अपने नेता नीतीश कुमार के लिए एक नए नारे के साथ पोस्टर लगाना कुछ महंगा सौदा साबित हो रहा है. हर दिन उनके सत्ता में सहयोगी से लेकर विपक्ष, कोई न कोई तंज कर देता है. बुधवार को विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने कहा कि पूरी जनता दल यूनाइटेड और नीतीश कुमार का आत्मविश्वास इतना कम हो गया है कि अब ‘ठीके है‘ में चले गए हैं.
  • JDU के नए नारे 'क्यूं करें विचार, ठीके तो है नीतीश कुमार' पर RJD का पलटवार- 'क्यों ना करें विचार, बिहार जो है...'
    जदयू ने अगले बिहार विधानसभा के मद्देनजर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की तस्वीर वाला पोस्टर पटना के वीरचंद पटेल मार्ग स्थित अपने प्रदेश मुख्यालय पर एक पोस्टर लगाया जिस पर लिखा है, 'क्यूं करें विचार, ठीके तो है नीतीश कुमार.'
  • समस्तीपुर : इंजीनियर पहुंचे रेलवे लाइन का सर्वे करने, ग्रामीणों ने बच्चा चोर बताकर धुन दिया
    मॉब लिंचिंग (Mob Lynching) की घटनाएं इस कदर बेकाबू होती जा रही हैं कि कहीं भी कोई इसका शिकार बन रहा है. समस्तीपुर में बच्चा चोर समझकर रेलवे के दो इंजीनियरों की लोगों ने जमकर धुनाई कर दी. वे रेलवे लाइन के लिए सर्वे करने आए थे. बदमाशों ने अफवाह फैला दी कि वे दोनों बच्चा चोर हैं. इसके बाद ग्रामीणों ने बिना कोई पूछताछ किए उन दोनों को जमकर पीटा. उन्हें जब पुलिस को सौंपा गया तब जाकर असलियत सामने आई. फिलहाल पुलिस उन दोनों से लिखित शिकायत मांग रही है ताकि मामला दर्ज किया जा सके.
  • बिहार : सुशील मोदी को पसंद नहीं आया जेडीयू का यह कदम, कहा- विकास पर ध्यान दीजिए
    बिहार में जनता दल यूनाइटेड (JDU) को उनकी सहयोगी बीजेपी के वरिष्ठ नेता और उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने कुछ सलाह दी है. सुशील मोदी जनता दल यूनाइटेड द्वारा अगले साल होने वाले विधानसभा के मद्देनजर अभी से चुनावी होर्डिंग लगाए जाने से खुश नहीं हैं.
  • पटना हाईकोर्ट: न्यायपालिका में भ्रष्टाचार को लेकर जज राकेश कुमार का आदेश रद्द
    पटना हाईकोर्ट में मुख्य न्यायाधीश की अध्यक्षता में तीन न्यायाधीशों की पूर्ण पीठ ने न्यायाधीश राकेश कुमार द्वारा पारित उस आदेश को रद्द कर दिया जिसमें उन्होंने न्यायपालिका में भ्रष्टाचार और एक स्टिंग ऑपरेशन की सीबीआई जांच कराने का आदेश दिया था. इससे पहले बीते गुरुवार को इस आदेश को 11 जजों की स्पेशल बेंच ने सस्पेंड किया था. सोमवार को इस मामले में सुनवाई में तीन जजों की पूर्ण पीठ ने कहा कि न्यायाधीश राकेश कुमार ने सभी परंपराओं को तोड़कर ये फ़ैसला दिया जबकि उन्हें इस निष्पादित मामले में सुनवाई करने का ना तो प्रशासनिक और ना ही न्यायिक अधिकार था. इसलिए किसी भी परिस्थिति में उनके आदेश को वैध नहीं माना जा सकता.
  • बिहार: शिखर, विमल और सर पान मसाले पर भी लगा बैन, 12 तरह के मसालों पर पहले हो चुकी है कार्रवाई
    बिहार में पान मसाला बैन होने की सूची में तीन और ब्रांडों को शामिल किया गया है. शिखर पान मसाला, विमल पान मसाला और सर पान मसाला पर सोमवार से खाद्य संरक्षा आयुक्त ने तत्काल प्रभाव से बैन लगा दिया. खाद्य संरक्षा आयुक्त संजय कुमार इस मामले में आदेश जारी कर चुके हैं. आदेश में कहा गया है कि अगस्त में तीन और पान मसालों के नमूनों की जांच की गई थी जिसमें मैगनीशियम कार्बोनेट पाया गया. इससे हार्ट अटैक का खतरा रहता है.
  • सुशील मोदी के सावन-भादों और खरमास में कम बिक्री के तर्क को अब नीतीश का भी समर्थन
    बिहार के वित्त मंत्री सुशील मोदी का रोना है कि कुछ चैनल वाले उनके इस बयान का मजाक उड़ा रहे हैं कि सावन-भादों में लोग कम ख़रीद-बिक्री करते हैं. लेकिन सुशील मोदी, जिन्होंने अपने इस मौसम से मंदी के लिंक का सिद्धांत बताया, को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का भी समर्थन सोमवार को मिला. नीतीश ने मोदी के सामने खाद्यान्न व्यापारियों के कार्यक्रम में कहा कि वे उनके तर्कों और तथ्यों से सहमत हैं.
  • नीतीश ने बिहार के व्यवसायियों को सुरक्षा की चिंता छोड़ने की सलाह दी
    बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अपने हर कार्यक्रम में भाषण के दौरान कुछ दार्शनिक अंदाज़ में होते हैं. नीतीश कुमार सोमवार को बिहार के खाद्यान्न व्यवसायियों के एक कार्यक्रम में शामिल हुए. उन्होंने साफ-साफ कहा कि सुरक्षा की चिंता मत कीजिए. अगर आपको कोई समस्या आई तो हम तुरंत आपको सुरक्षा प्रदान करेंगे.
  • मीडिया मेरा मजाक उड़ा रहा, लेकिन भादों और खरमास में लोग सामान नहीं खरीदते : सुशील मोदी
    बिहार के वित्त मंत्री सुशील मोदी ने आज कहा कि 'देश में मंदी आ गई, मंदी आ गई.. कहकर एक माहौल बनाने का प्रयास चुनाव में हारे विपक्षी दलों के लोग कर रहे हैं.' सुशील मोदी अपने बयान, 'देश में सावन-भादों के महीने में लोग नया सामान कम खरीदते हैं' पर आलोचना झेल रहे हैं. मोदी ने सोमवार को पटना में एक कार्यक्रम में कहा कि 'मैं व्यापारी बैकग्राउंड वाले घर से आता हूं और यह बात बचपन से जानता हूं कि भादों और खरमास के महीने में लोग खरीदारी कम करते हैं.'
  • ब्लॉग :  क्या नीतीश कुमार अब अपनी ही पार्टी जेडीयू के लिए 'कामचलाऊ' नेता बन गए हैं
    क्या बिहार में सत्तारूढ़ जनता दल यूनाइटेड अपने सुप्रीमो नीतीश कुमार को अब 'कामचलाऊ' और 'अस्थायी'  मानती है. ये सवाल सोमवार को पार्टी दफ़्तर के बाहर लगाए गये नए होर्डिंग के बाद लोग पूछ रहे हैं.  रविवार शाम , पटना में पार्टी दफ़्तर के बाहर नए होर्डिंग लगाए गए जिसमें नारा  था , ‘क्यूं करे विचार ठीके तो है नीतीश कुमार’.  निश्चित रूप से जिसने भी स्लोगन लिखा होगा उसमें पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ख़ासकर नीतीश कुमार के क़रीबी आरसीपी सिंह के सहमति से  ही ये होर्डिंग लगायी होगी. लेकिन पार्टी के ही नेताओं को लगता है ये नारा लोगों को पच नहीं रहा. ठीके का मतलब बिहार की राजनीति और गांव घर में यही होता हैं कि वो बहुत अच्छे तो नहीं लेकिन ठीक ठाक कामचलाऊ हैं.
  • बिहार चुनाव को लेकर जेडीयू का नया नारा, 'क्यूं करें विचार, ठीके तो है नीतीश कुमार'
    साल 2015 में बिहार में जिस नारे के दम पर नीतीश कुमार ने विधानसभा चुनाव जीता था इस बार उसमें थोड़ा सा बदलाव किया गया है. पिछली बार नारा था, 'बिहार में बहार है, नीतीशे कुमार है' इस नारे को गढ़ने में चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर का दिमाग़ था. लेकिन जो नया बदलाव किया गया है इसमें प्रशांत किशोर का कोई हाथ नहीं है. लेकिन साल 2020 में होने वाले चुनाव को लेकर जो नारा गढ़ा गया है वह है, 'क्यूं करें विचार, ठीके तो है नीतीश कुमार'. अब देखने वाली बात यह होगी कि बदली परिस्थितियों में नारे कितना काम करते हैं. लगातार तीन बार मुख्यमंत्री बन चुके नीतीश कुमार ने पिछला चुनाव आरजेडी+जेडीयू+कांग्रेस को मिलाकर महागठबंधन के बैनर तले लड़ा था. जिसमें इन तीन पार्टियों का वोटबैंक बीजेपी पर भारी पड़ गया था. नीतीश कुमार इससे पहले एनडीए में थे लेकिन नरेंद्र मोदी  को पीएम पद का चेहरा बनाए जाने पर वह नाराज हो गए और बीजेपी से नाता तोड़ लिया. 
  • तेजस्वी यादव ने सीएम नीतीश पर साधा निशाना, कहा- आपके राज में तो अपराधियों की ही मौज है, आम लोग तो सिर्फ...
    बीजेपी के विधायक ने हाथी पर बैठक बंदूक लहरा रहे हैं!, नीतीश कुमार के विधायक ने सिविल सर्जन को हंड्डी तोड़ने की धमकी दे रहे हैं!, डीजीपी को अपनी जान का डर है! पुलिसकर्मियों को सरेआम मारा जा रहा है! सीएम भ्रष्ट अधिकारियों को बचा रहे हैं! आम नागरिक अपराधिक घटनाओं और बाढ़ में अपनी जान गंवा रहे हैं!
  • 'कोर्ट में भ्रष्टाचार' वाली टिप्पणी करने वाले जस्टिस राकेश कुमार आज से फिर करेंगे मामलों की सुनवाई
    पटना हाईकोर्ट में वरिष्ठ जज, जस्टिस राकेश कुमार सोमवार यानी आज से मामलों की सुनवाई में हिस्सा लेंगे. बुधवार को न्यायमूर्ति राकेश कुमार ने एक फ़ैसले में टिप्पणी के दौरान कहा था कि कोर्ट प्रशासन भ्रष्टाचार का संरक्षक है. हाइकोर्ट के सबसे वरिष्ठ जज राकेश कुमार ने कहा था कि लगता है कि हाइकोर्ट प्रशासन ही भ्रष्ट न्यायिक अधिकारियों को संरक्षण देता है. उन्होंने ये सख़्त टिप्पणी पूर्व IPS अधिकारी रमैया के मामले की सुनवाई के दौरान की.
  • बिहार: गया में बुजुर्ग महिला की आंख निकालने की कोशिश, पुलिस जांच में जुटी
    धनगांई थाने के सहायक अवर निरीक्षक ओमप्रकाश सिंह ने रविवार को बताया कि पीड़िता का नाम धनमतिया देवी है जिनका इलाज अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल कॉलेज अस्पताल में चल रहा है. सिंह ने बताया कि इस वारदात के कारणों के बारे में पता नहीं चल पाया है. उन्होंने कहा कि हमलावरों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस प्रयास कर रही.
«45678910»

Advertisement