NDTV Khabar

पीएम नरेंद्र मोदी ने भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई में जुड़ने पर नीतीश कुमार को दी बधाई

आरजेडी नेता मोहम्मद अली अशरफ फातमी ने एनडीटीवी से कहा- बिल्‍कुल स्‍पष्‍ट था कि नीतीश कुमार ऐसा करेंगे, क्‍योंकि उनका व्‍यक्‍तित्‍व ऐसा है

1786 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
पीएम नरेंद्र मोदी ने भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई में जुड़ने पर नीतीश कुमार को दी बधाई

पीएम नरेंद्र मोदी ने नीतीश कुमार को ट्वीटर पर बधाई दी है.

खास बातें

  1. बिहार की सियासत की अगली करवट के मिलने लगे संकेत
  2. बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह बिहार के ताजा घटनाक्रम को लेकर सक्रिय
  3. सुशील मोदी ने कहा कि हम राज्य में मध्यावधि चुनाव के पक्ष में नहीं
नई दिल्ली: बिहार में सियासत कौन सी करवट लेने वाली है इसके संकेत तो पहले से ही मिल रहे थे, लेकिन आज नीतीश कुमार के इस्तीफे के बाद पीएम मोदी के उनको बधाई देने और बीजेपी अध्यक्ष के बिहार के पार्टी के वरिष्ठ नेता सुशील  मोदी से करने के बाद बीजेपी विधायकों की आपात बैठक बुलाए जाने से तस्वीर भले ही उजली न हो लेकिन अगली सरकार का अक्श साफ देखा जा सकता है.

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जेडीयू की बैठक के बाद गवर्नर केशरीनाथ त्रिपाठी से मुलाकात की और उन्हें अपना इस्तीफा सौंप दिया. इस खबर के चंद मिनिट बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट करके नीतीश कुमार को बधाई दी. उन्होंने कहा भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई में जुड़ने के लिए नीतीश कुमार जी को बहुत-बहुत बधाई. सवा सौ करोड़ नागरिक ईमानदारी का स्वागत और समर्थन कर रहे हैं.
     
उक्त ट्वीट के एक मिनट बाद ही उन्होंने अगला ट्वीट किया कि देश के विशेष रूप से बिहार के उज्जवल भविष्य के लिए राजनीतिक मतभेदों से ऊपर उठकर भ्रष्टाचार के खिलाफ एक होकर लड़ना,आज देश और समय की मांग है.
 
उधर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह बिहार के ताजा घटनाक्रम को लेकर सक्रिय हो गए हैं. उन्होंने सुशील मोदी को फोन किया और उसके तुरंत बाद पटना में बीजेपी के विधायकों की आपात बैठक बुलाई गई. इस बैठक के बाद पार्टी के वरिष्ठ नेता सुशील मोदी ने कहा कि हम राज्य में मध्यावधि चुनाव के पक्ष में नहीं हैं. हम चाहते हैं कि जो भी विधायक जीत कर आए हैं, वे पांच साल का कार्यकाल पूरा करें. अब बिहार में बीजेपी अध्यक्ष नित्यानंद राय, विधानसभा में नेता विपक्ष प्रेम कुमार और सुशील मोदी ने पार्टी विधायकों की एक समिति गठित की है जो विधायकों की राय और पार्टी की राय से केंद्रीय नेतृत्व को अवगत कराएगी. यह सियासी घटनाक्रम साफ संकेत दे रहा है कि बिहार में नई सरकार कैसी हो सकती है!   

वहीं, आरजेडी के एक नेता मोहम्मद अली अशरफ फातमी ने एनडीटीवी से कहा कि यह बिल्‍कुल स्‍पष्‍ट था कि नीतीश कुमार ऐसा करेंगे, क्‍योंकि उनका जैसा व्‍यक्‍तित्‍व है, उससे यही अपेक्षित था. उन्‍होंने एक महीने तक प्रतीक्षा की. नीतीश नैतिक राजनीति करते हैं. फातमी ने कहा कि नीतीश के परिवार का कोई आदमी राजनीति में नहीं है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement