बक्सर जिले में काफिले पर हुए हमले के पीछे हो सकती है राजनीतिक साजिश : नीतीश कुमार

नीतीश के अनुसार उस नंद गांव में तीन काम होने के बावजूद हमला किया जाना आश्चर्यजनक, जांच से सारी बातें साफ हो जाएंगी

बक्सर जिले में काफिले पर हुए हमले के पीछे हो सकती है राजनीतिक साजिश : नीतीश कुमार

सीएम नीतीश कुमार (फाइल फोटो).

खास बातें

  • नीतीश ने आरोपियों की ज़मानत का विरोध ना करने का निर्देश दिया
  • सीएम ने विपक्ष के घटना की निंदा तक नहीं करने पर जताया आश्चर्य
  • नीतीश ने कहा कि वे बदले की भावना से काम नहीं करते
पटना:

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को इस बात का संकेत दिया कि उनके काफिले पर बक्सर जिले के नंद गांव में हुआ हमला एक राजनीतिक साज़िश का परिणाम हो सकता है. नीतीश के अनुसार फिलहाल जांच चल रही है लेकिन जो कुछ भी हुआ उसमें साज़िश की बू आती है.

नीतीश ने कहा कि मुझे ख़ुशी होती कि मेरे ऊपर पत्‍थर फेंका गया और मुझे कोई ऐतराज़ नहीं होता, लेकिन आश्‍चर्य इस बात का है कि गांव के अंदर पत्‍थर फेंका. कभी आपने सुना है कि कोई गांव में गया और पत्‍थर फेंका गया. नीतीश के अनुसार उस गांव में तीन काम होने के बावजूद जैसे हमला किया गया उससे जांच के बाद सारी बातें साफ़ हो जाएंगी.

VIDEO : सीएम के काफिले पर हमला

नीतीश ने कहा कि चूंकि पूरा मामला उनके ऊपर हमले का है, इसलिए उन्होंने आरोपियों की ज़मानत का विरोध ना करने का निर्देश दिया है. लेकिन उन्होंने इस बात पर आश्‍चर्य व्यक्त किया कि विपक्ष ने घटना की निंदा तक नहीं की. नीतीश ने शरद यादव और तेजस्वी यादव का नाम लिए बिना कहा कि ये लोग महापंचायत लगा रहे हैं. नीतीश ने कहा कि ये अफ़सोस जता रहे हैं कि मुझे पत्‍थर नहीं लगा. नीतीश ने कहा कि वे बदले की भावना से काम नहीं करते.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com