JDU के उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर ने चुनाव लड़ने को लेकर लगाई जा रही अटकलों को दिया विराम

दो बातों पर सबसे ज़्यादा अटकलें लग रही हैं पहला प्रशांत अपने गृह जिले बक्सर से पार्टी के उम्मीदवार हो सकते हैं और अगर ऐसा नहीं हुआ तो वे नीतीश कुमार मंत्रिमंडल में शपथ ले सकते हैं

JDU के उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर ने चुनाव लड़ने को लेकर लगाई जा रही अटकलों को दिया विराम

फाइल फोटो

पटना:

जनता दल यूनाइटेड के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर न अगले साल लोकसभा चुनाव लड़ेंगे और न राज्यसभा चुनाव. यह घोषणा उन्होंने ख़ुद पटना में पार्टी की एक बैठक में की है. प्रशांत किशोर को उम्मीद है कि हर दिन अख़बार और अन्य मीडिया में उनके चुनाव लड़ने को लेकj सभी अटकलों पर विराम लगेगा. दरअसल जब से उन्होंने जनता दल यूनाइटेड की सदस्यता ली है तब से दो बातों पर सबसे ज़्यादा अटकलें लग रही हैं पहला प्रशांत अपने गृह जिले बक्सर से पार्टी के उम्मीदवार हो सकते हैं और अगर ऐसा नहीं हुआ तो वे नीतीश कुमार मंत्रिमंडल में शपथ ले सकते हैं. लेकिन पार्टी के अन्य नेताओं का मानना है कि नीतीश कुमार ने प्रशांत को अगले लोकसभा चुनाव की तैयारी के अलावा पार्टी को एक बार फिर आक्रामक और संगठित करने का ज़िम्मा दिया है. उसके अलावा जो कुछ भी लिखा जा रहा हैं वो फ़िलहाल नीतीश कुमार के विचाराधीन नहीं हैं.  इसलिए प्रशांत को पहले लोकसभा चुनाव में साबित करना होगा कि सही में उनके आने से परिणाम पर अनुकूल असर पड़ा है.

राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनने के बाद पहली बार प्रशांत किशोर को मिली महत्वपूर्ण जिम्मेदारी, नीतीश कुमार ने सौंपा यह काम

लेकिन साथ ही आने वाले समय में प्रशांत की कोशिश होगी कि उन्हें विधान परिषद में नीतीश कुमार अपने समय के अनुसार मनोनीत करे क्योंकि बिहार में जब तक आप किसी सदन के सदस्य नहीं बन जाते आपके राजनीतिक भविष्य को लेकर तमाम तरह के अटकलें लगती रहती हैं. इससे पूर्व सोमवार को प्रशांत किशोर ने जनता दल यूनाइटेड के युवा और छात्र विंग की बैठक में कहा था कि अगले दस साल तक वो बिहार में रहकर राज्य के लोगों की सेवा करना चाहते हैं. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

प्रशांत किशोर को जेडीयू में मिली नंबर-2 की कुर्सी​